दैनिक भास्कर हिंदी: जादू टोना करने का आरोप लगाया तो कर दी हत्या - 11 माह बाद पर्दाफाश , नर कंकाल बरामद

October 26th, 2019

डिजिटल डेस्क नारायणगंज ।  टिकरिया थाना क्षेत्र के गांव सिंघनपुरी में 11 माह पहले हुए हत्या के मामले को पुलिस ने सुलझा लिया है। पुलिस ने आरोपी दो सगे भाईयों को गिरफ्तार किया है। दफन किये गये शव के स्थान से नरकंकाल व अन्य सामग्री बरामद की है। थाना प्रभारी अमित कुमार ने बताया कि करीब 11 माह पहले सिंघनपुरी निवासी महिला रामबाई यादव ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि उसका पति बिसन यादव गांव घुगरी गया था और वापस नहीं आया। पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर लगातार पतासाजी की। बिसन के हुलिया के आधार पर तलाश किया लेकिन कहीं भी कोई सुराग नहीं मिल सका।
संदेह से आरोपी तक पहुंचे
काफी समय बाद मृतक की पत्नि व मुखबिर द्वारा बताया गया कि घुघरी से सिंघनपुरी रास्ते में सोनलाल व सेमलाल का घर है। जिन पर संदेह करते हुए गांव के लोग चर्चा कर रहे है। पुलिस ने संदेह के आधार पर दोनो को थाना लाकर पूछताछ शुरू की। शुरूआत में तो दोनो ने पुलिस को काफी गुमराह करने की कोशिश की।
विवाद बना हत्या की वजह
पुलिस की सख्ती के आगे सोनलाल व सेमलाल धूमकेती टूट गये और वारदात को अंजाम देना कबूल कर लिया। पुलिस को बताया कि मृतक बिसन यादव आये दिन जादू टोना करने की बात को लेकर आते-जाते विवाद करता था। 11 माह पहले रात्रि के समय बिसन ने घर आकर आरोप लगाते हुए विवाद किया था और वंश मिटाने की धमकी दे डाली।
पानी में डुबाकर हत्या
दोनो भाईयो ने बिसन के खात्मे का फैसला कर लिया और बिसन के पीछे दौड़े। जिसमें बिसन नदी की ओर भाग गया। बालई नदी के किनारे झोड़ी नाला के पास पकड़कर दोनो आरोपी भाईयो ने पानी में डुबाकर बिसन की हत्या कर दी। लाश को नाले के किनारे खुदाई कर दफन कर दिया।
बरामद किया कंकाल
आरोपियो की निशानदेही पर तहसीलदार, एफएसएल से डा.गौरव त्रिपाठी, टीआई अमित कुमार की मौजूदगी में खुदाई की गई। स्थल से नरकंकाल, हड्डी, कपड़े, टार्च, तंबाखू की पुडिय़ा बरामद हुई। जिनकी शिनाख्त मृतक की पत्नि ने की। आरोपियो को न्यायालय में पेश किया गया।
कार्रवाई में ये रहे शामिल
कार्रवाई में थाना प्रभारी टिकरिया अमित कुमार के साथ एएसआई पटेल, राणा, प्रधान आरक्षक रामकृष्ण बघेल, नारायण ताराम, अजय तिवारी, प्रदीप कुंजाम, गोविंद सल्लाम, कैलाश उपाध्याय, मोनिका शर्मा शामिल रहीं।