दैनिक भास्कर हिंदी: नक्सलियो ने मवई में दो लाख की लकड़ी को आग लगाई

May 14th, 2020

 

डिजिटल डेस्क मंडला ।   मवई थाना क्षेत्र के जंगल में लॉकडाउन के बीच नक्सली गतिविधि देखने मिल रही है। यहां बसनी गांव के पास सठिया कूप में नक्सलियो ने 21 जगह जलाऊ लकड़ी के चट्ठे जला दिये है। इसकी कीमत करीब दो लाख रूपये है। घटना की जिम्मेदारी माओवादी बोडला एरिया कमेटी ने ली है। इस नक्सली आहट के बाद पुलिस प्रशासन और मुस्तैद हो गया है। जंगल में पुलिस और हॉकफोर्स ने सर्चिंग की है। जानकारी के मुताबिक मंडला जिले के मवई, बिछिया, मोतीनाला नक्सल प्रभावित थाना क्षेत्र है। यहां अब नक्सली गतिविधियां पिछले कुछ सालो से देखने मिल रही है। मोतीनाला के पास फेन अभ्यारण्य क्षेत्र में परचे मिल चुके है। झोपड़ी और तेंदूपत्ता जलाने की भी घटना हो चुकी है। अब मवई क्षेत्र में नक्सली गतिविधियां लॉकडाउन के बीच सामने आई है। पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार शुक्ला ने बताया कि यहां बसनी गांव के पास कूप क्रमांक 10 सठिया कूप में 21 जगह लकड़ी नक्सलियो ने आग लगाई है। लकड़ी की अनुमानित कीमत करीब दो लाख रूपये बताई गई है। घटना की जिम्मेदारी माओवादी बोडला एरिया कमेटी ने परचे फेंककर ली है।  यह खबर वन विभाग को मिलने के बाद पुलिस को सूचना दी गई। एसपी दीपक कुमार शुक्ला भी मौके पर पहुंचे। इसके बाद यहां पुलिस और हॉक फोर्स ने जंगल में नक्सलियों की सर्चिंग की है। दिन भर जंगल में जांच चलती रही है। जंगल पुलिस ने उत्पादन वनमंडल की रिपोर्ट पर नक्सलियो के खिलाफ आगजनी समेत विभिन्न धाराओ पर मामला दर्ज किया है।
कूप कटिंग का विरोध
घटनास्थल पर नक्सलियो ने परचे भी फेकें है। माओवादी बोडला एरिया कमेटी ने इस घटना की जिम्मेदारी ली है। परचे में कहा गया है कि जंगल में लकड़ी की कटाई बंद की जाये। नक्सलियो के द्वारा कूप कटिंग का विरोध किया गया है। नक्सलियो द्वारा फेंके गये परचे मिलने के बाद यहां नक्सली गतिविधियों की जानकारी क्षेत्र में फैल गई है।
मौके पर पहुंचे एसपी
इस घटना की जानकारी के बाद एसपी दीपक कुमार शुक्ला मौके पर पहुंचे है। यहां वन विभाग के अधिकारियो से भी चर्चा की और घटनास्थल का बारीकी से निरीक्षण भी किया। पुलिस अधीक्षक ने थाना प्रभारी को अज्ञात नक्सलियो के खिलाफ मामला दर्ज करने के निर्देश दिये और जंगल में हॉकफोर्स और पुलिस की सर्चिंग तेज करने के लिए कहा। दिन भर मवई पुलिस और हॉक फोर्स की टुकड़ी जंगल में सर्चिंग करती रही है।
पहले भी कर चुके वारदात
> 12 फरवरी 2018 को नीमपानी बीट में वनकर्मियो को बंधक बनाकर वायरलेस सेट, मोबाइल, कैमरा लूट गये। इसी दिन दादर के अस्थाई केंप में आग लगा दी।
> फरवरी 2019 को मोतीनाला थाना क्षेत्र से करीब 28 किमी दूर देवगांव बम्होरी में नक्सलियो ने परचे फेंककर दहशत फैलाने का प्रयास किया।
> 31 मई 2019 की रात मोतीनाला वन परिक्षेत्र के नेवसा में करीब डेढ़ लाख का तेंदूपत्ता फूंक दिया।

खबरें और भी हैं...