दैनिक भास्कर हिंदी: नीट यूजी में करण अग्रवाल का दबदबा, 262 एआईआर के साथ उत्कृष्ट प्रदर्शन

June 6th, 2019

डिजिटल डेस्क,  नागपुर।  नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने बुधवार को नेशनल इजिबिलिटी एंट्रेंस टेस्ट (नीट-यूजी) के नतीजे जारी किए। इसमें शहर के सेंट पॉल कॉलेज के विद्यार्थी करण अग्रवाल ने 720 में से 670 अंक प्राप्त कर उत्कृष्ट प्रदर्शन किया। उन्होंने ऑल इंडिया रैंक (एआईआर) 262 प्राप्त करके अपना दबदबा कायम किया है। इसी तरह शहर के सिविल लाइंस स्थित भवन्स विद्या मंदिर और आकाश मेडिकल इंस्टीट्यूट की छात्रा सायली देबडवार ने 720 में से 655 अंक प्राप्त करके एआईआर 768 प्राप्त किया है। सेंट पॉल के अनिरुद्ध जाधव ने 650/720 अंक प्राप्त कर एआईआर 1007 हासिल किया है।

इनका भी बेहतर प्रदर्शन

केंद्रीय विद्यालय वायुसेना नगर के छात्र प्रबल गुप्ता ने 645/720 अंक हासिल करके एआईआर 1331 हासिल किया है। इसी तरह रायसोनी जूनियर कॉलेज के छात्र श्रनय वाघ ने 640/720 अंक हासिल करके एआईआर 1740 हासिल किया है। दोनों आकाश इंस्टीट्यूट के छात्र हैं। सेंट पॉल की वैष्णवी रोकडे ने 638/720 अंक प्राप्त कर एआईआर 1867 रैंक हासिल किया है। उल्लेखनीय है कि बुधवार को नतीजे जारी होने के बाद एनटीए की वेबसाइट क्रैश हो गई। इसी कारण से देर रात तक अनेक विद्यार्थी अपना परिणाम नहीं जान पाए। कई कॉलेज और कोचिंग सेंटरों ने अपने अंतिम नतीजों के लिए गुरुवार तक इंतजार करने का निर्णय लिया है।

ऐसी थी  एग्जाम

एमबीबीएस और बीडीएस पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए 5 मई को कड़े नियमों के बीच यह परीक्षा ली गई थी। यह परीक्षा कुल 720 अंकों थी, जिसमें फिजिक्स और केमेस्ट्री के 45-45 प्रश्न 180-180 अंकों के लिए पूछे गए। बायोलॉजी के 90 प्रश्न 360 अंकों के लिए पूछे गए थे। 

नियमित पढ़ाई से सफलता

हर रोज करीब 6 घंटे पढ़ता था। पिता उमेश अग्रवाल चंद्रपुर में चिकित्सक है। मम्मी सुनीता अग्रवाल भी डेंटिस्ट हैं। मुझे भी एमबीबीएस की पढ़ाई करनी है। इच्छा है कि नागपुर जीएमसी में पढ़कर ही पढ़ाई करूं। सफलता का श्रेय माता-पिता और शिक्षकों को जाता है।  - करण अग्रवाल

रोज 10 से 12 घंटे की पढ़ाई हो जाती थी। पिता राजेश्वर देबडवार जिला परिषद में कार्यरत है। मम्मी अनिता देबडवार चिकित्सक हैं। नियमित पढ़ाई से ही यह सफलता पाई। 
- सायली देबडवार