comScore

विदेशी जेल देखने लंदन-इजराइल जाना चाहते हैं जेल अधिकारी

विदेशी जेल देखने लंदन-इजराइल जाना चाहते हैं जेल अधिकारी

डिजिटल डेस्क, मुंबई। महाराष्ट्र के जेल अधिकारी लंदन और इजराइल जाकर वहां की जेलों कि स्थिति देखना चाहते हैं, जिससे विजय माल्या व नीरव मोदी जैसे भगौडे आरोपी प्रत्यर्पण के खिलाफ भारत की खराब जेलों का तर्क न दे सके। जेल प्रशासन ने इसके लिए राज्य के गृह विभाग को पत्र लिखा है। हालांकि गृह विभाग ने अभी इस बाबत कोई फैसला नहीं लिया है। बीते 5 सितंबर 2019 को विशेष पुलिस महानिरीक्षक (जेल) दिपक पांडेय ने अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) को पत्र लिख कर जेल और गृह विभाग के अधिकारियों की एक टीम को लंदन और इजराइल भेजने की मांग की है। पत्र में बैंकों के आर्थिक घोटाले के आरोपी विजय माल्या व नीरव मोदी के उन आरोपों का उल्लेख किया गया है जिसमें उन्होंने लंदन की अदालत में इस लिए भारत न भेजे जाने की मांग की थी कि भारत में जेलों की हालत बेहद खराब है। पत्र में कहा गया है कि हम इन देशों में जेलों की स्थिति का अध्ययन कर अपनी जेलों की हालत से उनकी तुलना करना चाहते हैं। पत्र में यह भी कहा गया है कि हाल के वर्षों में देश में आर्थिक अपराधियों का विदेश भागने का चलन बढ़ा है। इस तरह के आरोपी विदेशों में कानूनी रुप से भारत लौटने के लिए मजबूर किए जाने पर भारत की खराब जेलों का बहाना बनाते हैं। इस लिए फिलहाल लंदन (यूके) और इजराइल की जेलों की स्थिति को देखना जरूरी है। महाराष्ट्र से जाने वाली पुलिस अधिकारियों की यह टीम वहां जाकर यह देखना चाहती है कि आर्थिक अपराधियों को वहां की जेलों में किस तरह रखा जाता है।  

गौरतलब है कि भारतीय बैंकों को करीब 9 हजार करोड़ रुपए का चूना लगाकर लंदन भाग जाने वाले शराब कारोबारी विजय माल्या ने भारत की खस्ता जेलों का हवाला देकर यूके कि अदालत से प्रत्यर्पण नहीं करने की गुहार लगाई थी। लंदन के वेस्टमिंस्टर कोर्ट में हुई सुनवाई के दौरान विजय माल्या के वकील ने भारतीय जेलों की बुरी स्थिति की बात कही थी। माल्या के वकील ने कहा था कि प्रत्यर्पण को चुनौती देने के लिहाज से भारत में जेलों की बुरी हालत भी एक महत्वपूर्ण बिंदु है। इसके बाद लंदन की अदालत की मांग पर मुंबई के आर्थर रोड जेल का वीडियो पेश किया गया था। आर्थर रोड जेल की 12 नंबर बैरक को माल्या के लिए तैयार किया गया। इसी का वीडियो वेस्टमिंस्टर कोर्ट में पेश किया गया था।  
 

कमेंट करें
Ij4HV