केवल 3 एएनएम के भरोसे चल रहा जिले का टीकाकरण कार्यक्रम

only 3 nurses working in 24 wards
केवल 3 एएनएम के भरोसे चल रहा जिले का टीकाकरण कार्यक्रम
केवल 3 एएनएम के भरोसे चल रहा जिले का टीकाकरण कार्यक्रम

डिजिटल डेस्क, मंडला। मातृशिशु मृत्यू दर कम करने और माता बच्चें को गंभीर बीमारियों से बचाने के लिए चलाए जा रहे टीकाकरण कार्यक्रम स्टाफ की कमी के कारण लड़खड़ा गया है। जिला मुख्यालय में ही समय पर टीकाकरण नहीं हो पा रहा है। सप्ताह के हर मंगलवार और शुक्रवार को आंगनबाड़ी केंद्रो में टीके नहीं लग पा रहे है। यहां करीब तीन माह में स्वास्थ्य विभाग का स्टाफ पहुंच पा रहा है। 

 शहरी क्षेत्र मंडला में टीकाकरण कार्यक्रम के लिए पर्याप्त स्टाफ नहीं है। यहां शहर के 24 वार्ड में 3 एएनएम काम कर रही है। जिसमें मंडला शहर में एक और महाराजपुर में दो एएनएम है। एक एएनएम को 8 वार्ड में टीकाकरण की जिम्मेदारी विभाग ने सौंप रखी है। शहर में 54 आंगनबाड़ी केंद्र है। यहां प्रत्येक मंगलवार और शुक्रवार को टीकाकरण किया जा रहा है। एएनएम रोटेशन में करीब 3 माह में आंगनबाड़ी पहुंच पा रही है। नवजात बच्चें को जन्म के बाद से ही टीके लगने प्रारंभ हो जाते है। जिसमें डेढ़ माह,ढ़ाई माह और साढ़े तीन माह में बच्चे का टीका लगाया जाता है। हर महिने एएनएम केंद्र नहीं पहुंचने के कारण समय पर टीकाकरण नही हो पा रहा है। जागरूक नागरिक तो जिला अस्पताल जाकर नियमित टीकाकरण करा लेते है लेकिन जानकारी के अभाव होने पर टीकाकरण समय निकलने के बाद ही हो पाता है। शासन द्वारा मातृशिशु मृत्यु कम और बच्चों और गर्भवती मां को गंभीर बीमारी से बचाने के लिए चलाए जा रहा कार्यक्रम शहरी क्षेत्र में ही बेहतर तरीके से नहीं चल पा रहा है। 

6 का स्टाप जरूरी

जिला मुख्यालय मंडला की जनसंख्या 37420 है। अनुमान के मुताबिक 1 हजार जनसंख्या में 25 बच्चे टीकाकरण के लिए होते है। जिससे 4 वार्ड में एक एएनएम होना चाहिए। जिससे माह में एक बार मंगलवार शुक्रवार को टीकाकरण के लिए स्टाप पहुचे सके। लेकिन मंडला में दुगने वार्ड में स्टाप की टीकाकरण करना पड़ रहा है। इसओर स्वास्थ्य विभाग का जरा भी ध्यान नहीं है। 

अस्पताल की भी जिम्मेदारी

उपनगर महाराजपुर में 2 एएनएम पदस्थ है। इनको अस्पताल के साथ महराजपुर के वार्डो में टीकाकरण करना है। मंडला के बीस वार्ड मे स्टाफ नहीं होने के कारण एक एएनएम को मंडला के भी वार्ड दिए गए है। महाराजपुर मे पदस्थ एक एएनएम अस्पताल के साथ 8 वार्ड का टीकाकरण कार्यक्रम संभाल रही है। इसके अलावा दस्तक, मिशन इंद्रधनुष के घर-घर सर्वे भी करना पड़ रहा है। इससे टीकाकरण कार्यक्रम फेल रहा है। 
 

Created On :   18 Sep 2017 1:59 PM GMT

और पढ़ेंकम पढ़ें
Next Story