दैनिक भास्कर हिंदी: दो लाख की स्मैक के साथ तस्कर गिरफ्तार, कोतवाली पुलिस की कार्रवाई

September 8th, 2018

डिजिटल डेस्क, मंडला। शहर में आसानी से स्मैक की खेप पहुंच रही है। स्मैक के आदी हो चुके युवाओं को सप्लाई करने पहुंचे एक तस्कर को कोतवाली पुलिस ने दो लाख रूपए की स्मैक के साथ गिरफ्तार किया है। आरोपी के पास से छोटे-छोटे पैकेट में करीब 13.5 ग्राम स्मैक मिली है। आरोपी को अपराध एनडीपीएस एक्ट का मामला दर्ज कर गिरफ्तार किया गया है। कार्रवाई में एसडीओपी मंडला एव्ही सिंह, कोतवाली प्रभारी सियाराम सिंह गुर्जर, एसआई जितेन्द्र सिंह गुर्जर, आरक्षक अमित गरयार, आरक्षक धीरेन्द्र तेकाम, आरक्षक रमेश सिंगरौरे शमिल रहे।

प्रेसवार्ता में एसपी राकेश कुमार सिंह ने बताया है कि मुखबिर से सूचना मिली कि एक तस्कर स्मैक सप्लाई करने मोदी पेट्रोल पंप के पास पहुंचने वाला है। यहां पुलिस ने तस्कर को दबोचने के लिए योजना तैयार की, सटीक लोकेशन मिलते ही स्मैक तस्कर चिलमन चौक निवासी राजा उर्फ कुलदीप पटेल को गली में जाकर पकड़ लिया गया है। आरोपी भागने का प्रयास कर रहा था, लेकिन पुलिस घेराबंदी होने के कारण धर दबोचा गया। गवाहों के समक्ष राजा उर्फ कुलदीप पटेल पिता बलराम पटेल की तलाशी ली गई उसके पास से भारी मात्रा में स्मैक के पैकेट मिली, जिसका वजन कराए जाने पर स्मैक 13.5 ग्राम कीमत दो लाख रुपए की है।

सिविलियन बनकर दबिश
बताया गया है कि शहर मध्य क्षेत्र में तस्कर को दबोचने के लिए पुलिस को पहले काफी मशक्कत करनी पड़ी है। स्मैकियों की बढ़ती संख्या के साथ इसके सप्लायर पुलिस से बचने के लिए कई तरीके अपना रहे हैं। सूचना मिलने के बाद कोतवाली पुलिस का स्टाप सादी वर्दी में मौके पर पहुंचे। पेट्रोल पंप के पास पहुंचे जंहा गली पर राजा उर्फ  कुलदीप पटेल पिता बलराम पटेल 25 वर्ष का खड़ा था।

6 माह में 38.5 ग्राम स्मैक पकड़ी
बताया गया है कि पिछले छह माह में स्मैक ,गांजा की तस्करी पर कार्रवाई की गई।स्मैक के 3 प्रकरण बनाये गये । जिसमें 3 आरोपियों से करीब 5 लाख रुपए कीमत की  38.5 ग्राम स्मैक जब्त की गयी है, इसके साथ  गांजे का परिवहन एवं विक्रय करने पर जिले में 10 प्रकरण अवैध गांजे के पंजीबद्ध कर 14 आरोपियों को अवैध रूप से गांजा ले जाते हुए पकड़ा गया, जिनके कब्जे से 128 किलो ग्राम गांजा जब्त किया गया।

इनका कहना है
गांजा स्मैक तस्करों पर कार्रवाई जारी है। प्रयास यह है कि तस्करों का नेटवर्क तोड़ा जाए। ये वही लोग हैं जो युवा पीड़ी और समाज को नशे में झोंक कर बर्बाद कर रहे हैं। पालक भी इस बात पर ध्यान दें कि बच्चे दिनभर कहां जाते हैं, क्या करते है जब तक सामज परिवार जागरूक होने की जरूरत है।
राकेश कुमार सिंह एसपी,मंडला