• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • Rahat-2 camp inaugurated, registration and treatment in sports ground, surgery in three hospitals

दैनिक भास्कर हिंदी: राहत-2 शिविर का शुभारंभ, खेल मैदान में पंजीयन व उपचार, तीन अस्पताल में हो रही सर्जरी 

November 7th, 2019

डिजिटल डेस्क मंडला।  मप्र शासन, रोटरी इंटरनेशनल और तन्खा फांउडेशन के संयुक्त तत्वाधान में मंडला के महात्मा गांधी खेल मैदान में रोटरी राहत-2 का शुभारंभ गुरूवार को हुआ है। सात दिवसीय स्वास्थ्य महाकुंभ की शुरूआत में ही दीन दुखी राहत के लिए पहुंच रहे है। यहां शिविर का सुनहरा आगाज हुआ है। शिविर में मरीजों की राहत की नई इबारत लिखने वाली है।
दीप प्रज्जवलन से हुआ शुभारंभ-
शिविर का शुभारंभ दीप प्रज्जवलन से किया गया। इंटरनेशनल रोटरी के होने वाले अध्यक्ष शेखर मेहता, पूर्व अध्यक्ष राजा साबू, पूर्व डिस्ट्रिक्ट गर्वनर विवेक तन्खा, विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति, प्रभारी मंत्री तरूण भानोत, विधायक अशोक मर्सकोले, नारायणसिंह पट्टा, डॉ राजेश धीरावाणी, डॉ विनोद भंडारी की उपस्थिति में किया गया। यहां शिविर को-ओर्डिनेटर बलदीप मैनी, चैयरमेन संजय तिवारी, संजय सिंह परिहार, कमीश्नर राजेश बहुगुणा, कलेक्टर जगदीश चंद्र जटिया, जिला पंचायत सीईओ तन्वी हुड्डा और रोटरी मंडला मेकल के  सदस्य मौजूद रहे। 
पंडाल बना अत्याधुनिक अस्पताल-
महात्मा गांधी खेल मैदान में शिविर के लिए बनाया गया पंडाल अत्याधुनिक अस्पताल बन रहा है। यहां हर प्रकार की जांच और उपचार हो रहा है। 60 हजार वर्ग फीट के पंडाल में चिकित्सा सुविधाएं  मिल हो रही है। पंडाल में पंजीयन से लेकर चिकित्सीय परीक्षण किया जा रहा है। यहीं दवाएं भी उपलब्ध हो रही है। शिविर में आ रहे मरीजों की सुविधाओं का ख्याल रखा जा रहा है। उन्हे बैठने की व्यवस्था बनाई गई है। 
तीन अस्पताल में सर्जरी शुरू-
मंडला राहत में मरीजो की सर्जरी तीन अस्पतालों में की जा रही है। जिला अस्पताल में जनरल सर्जरी, दांत और नेत्र रोग के ऑपरेशन किये जा रहे है। इसके अलावा योगीराज में प्लास्टिक और हड्डी रोग के ऑपरेशन हो रहे है। कटरा में महिला संबंधी रोग के ऑपरेशन किये जा रहे है। तीनों अस्पतालों के अलावा ऐसे मरीज इनके ऑपरेशन यहां सुविधाओं के अभाव में संभव नही है, उन्हे  जबलपुर मेडीकल, एम्स दिल्ली, अरबिंदो मेडीकल कॉलेज इंदौर, जबलपुर हास्पिटल और अन्य महानगर के अस्पताल में होगे। 
मरीजों को अस्पाल पहुंचाने की भी सुविधा-
यहां शिविर में आये मरीजो को सर्जरी के लिए अस्पताल भेजने के लिए वाहन सुविधा दी जा रही है। प्रशासन के वाहन लगाये है। जो मरीजों को शहर के तीनों अस्पताल पहुंचा रहे है। इसके अलावा महानगर के अस्पताल जाने के लिए बसे लगी है। मरीजो को चिहिंत कर बसों के माध्यम से महानगर भेजा जाएगा। जहंा उन्हे समुचित उपचार मिल सकेगा। 
मरीजों की उमड़ी भीड़-
रोटरी राहत शिविर के लिए 45 हजार पंजीयन होन के बाद ऑफलाईन पंजीयन किया गया है। अब शिविर में पंजीयन के लिए भीड़ उमड़ रही है। पंजीयन के सभी कांउटर में सुबह 9 बजे से ही लोग पहुंच गये। इसके बाद  शाम तक पंजीयन हुआ है। जिले के बाहर से भी मरीज उपचार के लिए पहुंचे है। 
भोजन करा रही संस्थाएं-
यहां शिविर में आने वाले मरीजो के लिए भोजन व्यवस्था भी की गई है। सामाजिक संस्थाओं की मदद से मरीजो को भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है। मैदान मेे पंडाल के पीछे ही भोजन दिया जा रहा है। यहां मरीजों और तीमारदारों को परेशान नही होना पड़ रहा है। शिविर मे ही भोजन कर सकते है। 

विश्व का सबसे बड़ा स्वास्थ्य शिविर राहत-2 -विवेक तन्खा 
रोटरी के पूर्व डिस्ट्रिक्ट गर्वनर और राज्य सभा सांसद विवेककृष्ण तंखा ने कहा कि शिविर विश्व में सबसे बड़ा होगा। जहां अत्याधुनिक तरीके से उपचार किया जा रहा है। शिविर में टेलीमेडीसिन स्काइप के जरिये मरीजों को उपचार हो रहा है। शिविर को मिशन का कहा गया है, हमारा मिशन है कि अधिक से अधिक लोगो तक स्वास्थ्य सुविधाएं पहुंचाई जा सके। हर जरूरतमंद को उपचार मुहैया कराया जाएगा, जरूरतमंद के उपचार शिविर में संभव नही होगा तो जबलपुर, इंदौर और दिल्ली में उपचार करा रहे है। शिविर में एक लाख मरीजो के आने की उम्मीद है। श्री तंखा ने बताया है इस शिविर में प्राइवेट हॉस्पिटल बहुत सहयोग कर रहे है, मशीनों  और चिकित्सीय दल के साथ शिविर में पहुंचे है। प्राइवेट पब्लिक पार्टनरशिप का यह अनूठा उदाहरण है। सेवा भाव से चिकित्सक सेवा देने आये है। चंडीगढ़ से 40 डॉक्टर की टीम पहुंची है। इंदौर से अरबिंदो मेडीकल कॉलेज की टीम, जबलपुर हॉस्पिटल की टीम उपचार कर रही है। श्री तन्खा ने बताया है कि इंटरनेशनल रोटरी के होने वाले अध्यक्ष शेखर मेहता शिविर में आये हुये है। उन्होने  इस तरह के आयोजन में वालंटियर्स के रूप में कार्य करने की इच्छा जाहिर की है। श्री तंखा ने कहा कि मंडला में मेडीकल कॉलेज की मांग चल रही है। इस आयोजन में आयोजन में आने वाले मरीजों की संख्या से इस मांग को बल मिलेगा। 
 

खबरें और भी हैं...