comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

रायपुर : राज्य की तीन सिंचाई परियोजना का कार्य शीघ्र शुरू करेगा सीआईडीसी

November 13th, 2020 16:58 IST
रायपुर : राज्य की तीन सिंचाई परियोजना का कार्य शीघ्र शुरू करेगा सीआईडीसी

डिजिटल डेस्क, रायपुर। सीआईडीसी की बोर्ड बैठक में अहिरन-खारंग लिंक परियोजना, छपराटोला फीडर जलाशय तथा रेहर-अटेम लिंक परियोजना के संबंध में गहन चर्चा। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की सैद्धांतिक सहमति मिलने के बाद राज्य की तीन महत्वपूर्ण सिंचाई परियोजनाओं अहिरन-खारंग लिंक परियोजना, छपराटोला फीडर जलाशय तथा रेहर अटेम लिंक परियोजना का काम शीघ्र शुरू कराए जाने के संबंध में आज कृषि एवं जल संसाधन मंत्री श्री रविन्द्र चौबे, वन एवं पर्यावरण मंत्री श्री मोहम्मद अकबर की विशेष मौजूदगी में सीआईडीसी बोर्ड की बैठक में विचार-विमर्श किया गया। यह बैठक जल संसाधन मंत्री के निवास कार्यालय में हुई। बैठक में अहिरन-खारंग लिंक परियोजना, छपरा टोला फीडर जलाशय तथा रेहर अटेम लिंक परियोजना का कार्य सीआईडीसी के माध्यम से कराने के निर्णय के साथ ही उक्त तीनों सिंचाई परियोजनाओं सर्वेक्षण एवं विस्तृत कार्ययोजना तैयार करने के संबंध में चर्चा की गई। इन तीनों परियोजनाओं को पूरा करने पर लगभग 2000 करोड़ रूपए खर्च होंगे। जल संसाधन मंत्री श्री रविन्द्र चौबे ने जल संसाधन विभाग तथा सीआईडीसी के अधिकारियों से उक्त तीनों सिंचाई परियोजनाओं के काम को तेजी से शुरू कराए जाने के लिए आवश्यक कार्रवाई के निर्देश दिए। मंत्री श्री चौबे ने इनकी विस्तृत कार्ययोजना (डीपीआर) तैयार कर पीएफआईसी को प्रस्तुत करने के भी निर्देश दिए। बैठक में उक्त तीनों सिंचाई परियोजनाओं के लिए वित्तीय स्वीकृति के संबंध में भी चर्चा की गई। बैठक में अपर मुख्य सचिव वित्त एवं जल संसाधन श्री अमिताभ जैन, प्रमुख सचिव वन श्री मनोज पिंगुआ, कृषि उत्पादन आयुक्त डॉ. एम. गीता, जल संसाधन विभाग के सचिव श्री अविनाश चम्पावत, राजस्व सचिव सुश्री रीता शांडिल्य, सीआईडीसी के प्रबंध संचालक श्री अनिल राय, प्रमुख अभियंता जल संसाधन श्री जयंत पवार सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में जानकारी दी गई कि अहिरन खारंग लिंक परियोजना एक पेयजल परियोजना है। जिसकी लागत 720.52 करोड़ रूपए है। कोरबा जिले के कटघोरा विकासखण्ड के ग्राम पोड़ी गोसाई के समीप अहिरन नदी पर बांध निर्माण कर वहां संग्रहित जल को पाईप लाईन के जरिए खारंग जलाशय में जाएगा। खारंग जलाशय से नगर पालिक निगम बिलासपुर को 31 मिलियन घन मीटर तथा रतनपुर शहर को 1.11 घन मीटर पानी पेयजल के लिए उपलब्ध कराया जाएगा। इसी तरह रेहर-अटेम लिंक परियोजना के माध्यम से सरगुजा जिले की रेहर नदी को हसदेव नदी से जोड़ा जाना है। गौरतलब है कि सूरजपुर जिले के डेडरी ग्राम के समीप रेहर बैराज निर्माणाधीन है। जहां से पानी चैनल के माध्यम से ग्राम परसापाली के समीप बिछली नाला में छोड़कर झिंक नदी से जोड़ना प्रस्तावित है। छपराटोला फीडर जलाशय का निर्माण अरपा नदी पर कोटा तहसील के ग्राम छपरापारा के पास प्रस्तावित है। इसकी लागत लगभग 968 करोड़ रूपए है। छपराटोला फीडर जलाशय का निर्माण का उद्देश्य अरपा नदी का संरक्षण कर ग्रामीणों की आजीविका के साधन बढ़ाने, 22 गांवों में भू-जल संवर्धन तथा पर्यावरण संतुलन को बनाए रखना है।

कमेंट करें
zN1wf
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।