comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

रायपुर : मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने किया ‘गोधन न्याय योजना का शुभांरभ

July 22nd, 2020 18:01 IST
रायपुर : मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने किया ‘गोधन न्याय योजना का शुभांरभ

डिजिटल डेस्क, रायपुर । वृक्षारोपण कार्यक्रम में भी शामिल हुए रायपुर, 21 जुलाई 2020 स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने आज सूरजपुर जिले के ग्राम खड़गवां कला में ‘गोधन न्याय योजना‘ का शुभारंभ किया। उन्होंने केरता के माँ महामाया शक्कर कारखाना परिसर में 20 हजार मिट्रिक टन क्षमता वाले शक्कर गोदाम और 49 लाख रूपए की लागत से निर्मित होने वाले मोलासिस टैंक का शिलान्यास भी किया। डॉ. टेकाम प्रतापपुर विकासखंड की ग्राम पंचायत कोटिया में आयोजित वृक्षारोपण में शामिल हुए। उन्होंने ग्राम कोटिया में 51 लाख रूपए की लागत से निर्मित होने वाले मिनी स्टेडियम का शिलान्यास भी किया। मंत्री डॉ. टेकाम ने खड़गवां कला के क्षेत्रीय कार्यालय में किसानों से गोबर क्रय कर ‘गोधन न्याय योजना‘ का शुभारंभ किया। उन्होंने यहां पारम्परिक तौर पर कृषि उपकरण और गोवंश की विधि-विधान से पूजा की। डॉ. टेकाम ने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि ‘गोधन न्याय योजना‘ छत्तीसगढ़ शासन की महत्वाकांक्षी योजना है। इस योजना से किसानों से गोबर दो रूपए किलो की दर से खरीदा जाएगा। महिला स्व-सहायता समूहों के माध्यम से वर्मी कम्पोस्ट खाद बनाकर सहकारी समिति के माध्यम से किसानों को दिया जाएगा। इस योजना से अपशिष्ट प्रबंधन के साथ-साथ खाद का उपयोग करने से खेतों की उर्वरता बढ़ेगी। मंत्री डॉ. टेकाम ने कहा कि गोधन न्याय योजना राज्य के ग्रामीणाों को फायदा पहुंचाने और गांव को अर्थव्यवस्था को मजबूत करने का अभिनव प्रयास है। खेती-किसानी से लेकर ग्रामीण लोगों के सामाजिक आर्थिक परिवेश में भी इस योजना से सकारात्मक बदलाव आएगा। उन्होंने कहा कि राज्य में रोका-छेका अभियान की शुरूआत किए जाने की साथ ही खुली चराई प्रथा पर रोक लगाने का प्रयास किया गया है। गांव और किसानों की बेहतरी के लिए सुराजी गांव योजना के तहत नरवा, गरूवा, घुरवा, बाड़ी के संवर्धन और संरक्षण के कार्य किए जा रहे हैं। गांव में वर्षा जल संरक्षण के लिए नरवा (नाला) का उपचार कराए जाने के साथ ही पशुओं के संरक्षण और संवर्धन के लिए गौठानों का निर्माण कराया जा रहा है। गौठानों में किसानों और पशुपालकों पशुधन के रखरखाव एवं उनके चारे-पानी का बेहतर प्रबंध किए जाने के साथ ही महिला स्व-सहायता समूह के माध्यम से विभिन्न आयमूलक गतिविधियां संचालित की जा रही हैं। घुरवा कार्यक्रम के तहत गांव में नाडेप और वर्मी कम्पोस्ट के उत्पादन की ओर ग्रामीणों एवं किसानों का रूझान बढ़ा है। राज्य में निर्मित गौठानों में बड़े पैमाने पर वर्मी कम्पोस्ट खाद का उत्पादन भी किया जा रहा है। बाड़ी विकास कार्यक्रम से गांव में सब्जी-भाजी के उत्पादन को बढ़ावा मिला है। महिला समूह अब सामूहिक रूप से सब्जी उत्पादन के कार्य से जुड़े हैं। इन योजनाओं के माध्यम से छत्तीसगढ़ की ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूती मिलेगी। क्रमांक: 2745/चतुर्वेदी

कमेंट करें
ON8Ip
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।