comScore

रायपुर : रेडियो श्रोताओं ने बताया छत्तीसगढ़ में समावेशी विकास का असर

September 14th, 2020 18:04 IST
रायपुर : रेडियो श्रोताओं ने बताया छत्तीसगढ़ में समावेशी विकास का असर

डिजिटल डेस्क, रायपुर। 13 सितंबर 2020 रेडियो वार्ता की इस कड़ी के लिए धमतरी जिले के कुरूद के श्री मनीष साहू सहित अनेक श्रोताओं ने अपने विचार भी साझा किए। उन्होंने मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ में समावेशी विकास के लिए किए जा रहे प्रयासों के लिए उन्हें धन्यवाद और बधाई दी। श्री मनीष साहू ने कहा कि चाहे वह राजीव न्याय योजना किसानों के लिए हो या पशुपालकों के लिए गौधन न्याय योजना और साथ ही शिक्षा के क्षेत्र में जो सरकारी इंग्लिश मीडियम स्कूल खोले जा रहे हैं, निश्चित तौर पर एक अच्छा प्रयास किया जा रहा है ताकि जो भेदभाव है, वह दूर होगा। उन्होंने मुख्यमंत्री से यह आग्रह किया कि जितने भी ब्लॉक हैं, वहाँ पर सरकार की तरफ से सार्वजनिक उपक्रम के उद्योग-धंधे खुलवाएं, ताकि ज्यादा से ज्यादा यहाँ के लोगों को रोजगार मिल सके। दंतेवाड़ा जिले की ग्राम पंचायत चंदेनार के निवासी श्री लखमूराम भास्कर ने कहा कि दन्तेवाड़ा में रोजगार केन्द्र ‘आमचो गांव-आमचो रोजगार’ की शुरुआत हुई है। जिला पंचायत से अलग-अलग रोजगार जैसे किराना, सायकल स्टोर और फोटोकॉपी दुकान, मतलब दुकान खोलने के लिए सहायता मिल रही है। श्री भास्कर ने बताया कि अपने गांव में वे किराने की दुकान चला रहे हैं। दंतेवाड़ा के ही श्री सूरज कश्यप ने बताया कि वे 10वीं का छात्र हैं। पिताजी शिक्षक और माताजी स्वसहायता समूह में कार्यरत हैं। उन्होंने ने बताया कि कोरोना काल में पढ़ाई के लिए शासन की ‘पढ़ाई तुंहर दुआर’ और जिला प्रशासन द्वारा ‘नयी पहल ‘ज्ञान गंगा’ में ऑफलाइन सर्वर पंचायतों में लगाया गया है। वे मोबाइल डेटा के द्वारा अध्ययन सामग्री लोड कर लेते हैं। इसके माध्यम से मेरे पिता को जैविक खेती और माता को स्वसहायता समूह के बारे में जानकारी मिल जाती है। उन्होंने इसके लिए मुख्यमंत्री और जिला प्रशासन को धन्यवाद दिया। माता-पिता पढ़ाई के लिए ही मोबाइल देते हैं कार्टून देखने के लिए नहीं देते। मेरे माता-पिता को कहें कि कार्टून देखने के लिए भी मोबाइल दिया करें।

कमेंट करें
iJsa3