comScore

सड़क दुर्घटना:  बुलेरो और ट्रक में की जोरदार टक्कर दो युवकों की मौत  

सड़क दुर्घटना:  बुलेरो और ट्रक में की जोरदार टक्कर दो युवकों की मौत  


डिजिटल डेस्क टीकमगढ़/जतारा। जिले में दो अलग-अलग घटनाओं में  एक मासूम सहित तीन लोगों की जान चली गई। पहली घटना सागर रोड पर समर्रा गांव के पास हुई। बुलेरो और ट्रक की जोरदार भिड़ंत में बुलेरो सवार 2 युवकों की मौके पर मौत हो गई। वहीं जतारा थाना क्षेत्र के करमौरा गांव में 4 साल का मासूम कुएं में गिर गया। उसे बचाने कुएं में कूदे पिता की भी मौत हो गई। पिता-पुत्र की एक साथ मौत से करमौरा गांव में मातम पसर गया।   
शराब कंपनी में काम करते थे दोनों युवक
 सागर-टीकमगढ़ रोड पर समर्रा गांव के पास  बुलेरो और ट्रक की आमने-सामने जोरदार भिड़ंत हो गई। दुर्घटना में बुलेरो में सवार दो युवकों की मौके पर ही मौत हो गई। दोनों युवक शराब कंपनी के कर्मचारी बताए गए हैं। टीआई अनिल सिंह मौर्य ने बताया कि   ग्राम समर्रा के पास ट्रक और बुलेरो वाहन दुर्घटनाग्रस्त हो गए हैं। बुलेरो में दो युवकों के मृत अवस्था में फंसा होना बताया गया था। सूचना पाकर तत्काल मौके पर पुलिस टीम रवाना की गई। मौके पर देखा कि सोयाबीन से भरा ट्रक क्रमांक एमपी 20 एचवी 7471 बड़ागांव से टीकमगढ़ की ओर जा रहा था, जबकि एमपी 36 सी 2973 बुलेरो वाहन टीकमगढ़ से बड़ागांव की ओर जा रहा था। दोनों वाहनों की आमने-सामने टक्कर हो गई। हादसे में बुलेरो में सवार सुनील पिता दयाराम राय उम्र 32 वर्ष निवासी ज्यौरा थाना पृथ्वीपुर जिला निवाड़ी व धर्मेंद्र पिता द्वारका प्रसाद राय निवासी थाना क्षेत्र रक्शा जिला झांसी की मौके पर ही मौत हो गई।
एक दिन पहले फेसबुक पर डाली बेटे की पोस्ट        
जतार  थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत करमौरा निवासी बृजेश यादव ने अपने 4 वर्षीय बेटे अर्पित की फोटो फेसबुक पर अपलोड की। शनिवार को वही बेटा कुएं में गिर गया। उसे बचाने के लिए बृजेश ने भी कुएं में छलांग लगा दी, लेकिन वह तैरना नहीं जानता था। हादसे में 4 साल के अर्पित के साथ बृजेश की भी पानी में डूबने से मौत हो गई। हृदय विदारक घटना से पूरे परिवार में मातम है। वहीं गांव के कुछ लोग दबी जुबान में इसे आत्महत्या का मामला बता रहे हैं। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है। शनिवार को हादसे के बाद ग्रामीणों ने थाना पुलिस को सूचना दी। जानकारी लगते ही थाना प्रभारी आनंद सिंह परिहार मौके पर पहुंचे। उन्होंने पिता-पुत्र के शवों को कुएं से निकाला और पंचनामा बनाकर पीएम के लिए भेज दिया। जांच के दौरान पता चला कि मृतक बृजेश यादव सोशल साइट फेसबुक पर बृजेश दादा के नाम से आईडी चलाता था। 6 दिसम्बर को 12.30 बजे उसने बेटे अर्पित की एक फोटो फेसबुक पर शेयर की थी। हादसे के बाद परिजनों के साथ गांव में भी मातम पसरा है। ग्रामीणों का कहना है कि हादसे से कुछ घंटे पहले ही जिस व्यक्ति ने सोशल साइट पर अपने बेटे की फोटो अपलोड की, वह चंद घंटों के बाद ही मौत का शिकार हो गया। पुलिस फिलहाल मामले की जांच में जुटी हुई है। मृतक के परिजन फिलहाल सदमे के कारण कुछ कहने की स्थिति में नहीं है। शनिवार शाम मृतक बृजेश यादव का अंतिम संस्कार करमौरा में किया गया।

कमेंट करें
OYr04