ग्राम पंचायत बिनेकी के ग्रामीणों ने जनसुनवाई में पहुंचकर की शिकायत, सडक़ बनाने की मांग: आजादी के बाद से लेकर अब तक नहीं बनी सड़क, कीचड़ के बीच चलने मजबूर ग्रामीण

October 12th, 2021

डिजिटल डेस्क छिंदवाड़ा। साहब... आजादी के बाद से लेकर अभी तक गांव में सडक़ नहीं है। जरा सी बारिश में ही चलना दूभर हो जाता है। कई बार शिकायत कर चुके हैं लेकिन समस्या का आज तक समाधान नहीं हुआ हैं। ये शिकायत शुक्रवार को अमरवाड़ा विकासखंड के ग्राम बिनेकी के ग्रामीणों ने जनसुनवाई में कलेक्टर से की।
मदन सिंह राठौर, गुलजार राठौर, जगदीश बंजारा, सेवकराम चंद्रवंशी का कहना था कि ग्राम पंचायत बिनेकी से तीन किलोमीटर दूर बिनेकीढाना है। ढाना में सडक़ नाम की चीज नहीं है। जिस वजह से ग्रामीणों को बड़ी समस्या का सामना करना पड़ रहा है। गांव बिनेकी में मिडिल स्कूल है जहां छोटे-छोटे बच्चे पढऩे के लिए जाते हैं लेकिन सडक़ नहीं होने के कारण जरा सी बारिश में इन बच्चों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। ग्रामीणों ने शिकायत करते हुए तुरंत सडक़ बनाने की मांग कलेक्टर सौरभ कुमार सुमन से की। वहीं कुकुमुंडा के ओमकार टेकाम, काशीराम टेकाम, शिवमुनी परतेती, ध्यान सिंह परतेती एवं फुल सिंह धूर्वे सहित बड़ी संख्या में ग्रामीणों ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर जमीन अधिग्रहण के विरोध में प्रदर्शन किया। उन्होंने भूमि अधिग्रहण की कार्रवाई पर रोक लगाने की मांग की।
ये शिकायतें भी आई जनसुनवाई में
- ग्राम बिजोरी पठार से आए ग्रामीणों ने जनसुनवाई में कतियाढाना का विद्युत ट्रांसफार्मर बदलने की मांग की।
- ग्राम दामखोह के ग्रामीणों ने सार्वजनिक उपयोग की जमीन को पट्टे पर देने की शिकायत की और पट्टा निरस्त करने की मांग की।
- ग्राम कलकोटी के ग्रामीणों ने पेंच परियोजना के पानी में डूबी जमीन का मुआवजा देने की मांग कलेक्टर से की।
- ग्राम कारापाठा के ग्रामीणों ने नया ट्रांसफार्मर लगाने की मांग की।
137 आवेदनों पर हुई सुनवाई
137 आवेदनों पर कलेक्टर सौरभ कुमार सुमन द्वारा मंगलवार को जनसुनवाई की गई। जनसुनवाई में मुख्यत: अतिक्रमण हटाने, बीपीएल कार्ड बनवाने, अनुकंपा निुयक्ति देने, ट्रांसफार्मर लगाने की मांग कलेक्टर श्री सुमन के समक्ष आई।

खबरें और भी हैं...