दैनिक भास्कर हिंदी: आरटीओ ने पकड़ी 50 लाख 61 हजार की टैक्स चोरी, 2 यार्डों में आरटीओ ने दी दबिश, 7 बसें जब्त

March 17th, 2019

डिजिटल डेस्क, सतना। रोड टैक्स की चोरी के लिए वाहनों को चोरी छिपे काट कर कबाड़ में तब्दील करने के एक बड़े गोरखधंधे का खुलासा हुआ है। आरटीओ संजय श्रीवास्तव के नेतृत्व में परिवहन विभाग की 10 सदस्यीय टीम ने शनिवार की दोपहर शहर के 2 यार्डों में अलग-अलग छापामारी करते हुए 7 यात्री बसों के साथ अन्य ऐसे वाहन जब्त किए हैं, जिन पर लंबे अर्से से रोड टैक्स के मद में तकरीबन 50 लाख 61 हजार का रोड टैक्स बकाया था। इन सभी वाहनों की काट कर कबाड़ करने की तैयारी थी। कुछ वाहन काट कर कबाड़ भी किए जा चुके थे।

ऐसे हुआ पर्दाफाश
आरटीओ संजय श्रीवास्तव को मुखबिर से सूचना मिली कि ऑफिस के पीछे नहर किनारे खड़ी बस नंबर एमपी- 17 पी 0172 को काट कर कबाड़ करने की तैयारी चल रही है। आनन-फानन में परिवहन विभाग की 10 सदस्यीय टीम मौके पर पहुंची तो पता चला कि जिस बस को कबाड़ में तब्दील करने की तैयारी चल रही है, उसकी रोड टैक्स के मद में 12 लाख 89 हजार रुपए की भारी भरकम रकम अक्टूबर 2016 से बकाया है। रीवा के नेहरु नगर निवासी  खेमराज सिंह (सर्वेश टै्रवल्स) की ये बस 36 सीटर होने के साथ चालू हालत में भी थी। रीवा के आरटीओ कार्यालय में इस बस का पंजीयन वर्ष 2006 की 13 सितंबर को हुआ था। बस को जब्त करते हुए इसे कार्यालय परिसर में खड़ा करा लिया गया है। बस मालिक से 12 लाख 89 हजार की टैक्स वसूली की प्रक्रिया भी शुरु कर दी गई है।

छापा की कार्रवाई से मचा हड़कंप
रोड टैक्स की लाखों की चोरी के लिए सरेआम बस को कबाड़ करने का मामला सामने आने के बाद परिवहन कार्यालय ने शहर के 2 यार्डों में अलग -अलग छापे मारे। जहां कटने के लिए भेजी गईं 8 अन्य ऐसी यात्री बसें पकड़ में आईं जिन पर लंबे समय से रोड टैक्स के मद में लगभग 21 लाख 16 हजार 324 रुपए की रकम बकाया था। सभी बसें जब्त कर ली गई हैं।

फैक्ट फाइल
हत्थे चढ़ी किस बस पर कितना बकाया
एमपी 17 पी 0172- 12 लाख 89 हजार   
एमपी 19 डी 6449- 10 लाख 63 हजार 588
एमपी 19 एचए 0564- 6 लाख 51 हजार 606
एमपी 19 टी  2651 - 1 लाख 94 हजार 670
एमपी 19 एचए  3897- 1 लाख 11 हजार 600
एमपी 19 एचए 2221- 66 हजार 33
एमपी 19 एचए 1897- 28 हजार 830
अन्य वाहन - 3 लाख 66 हजार 775  

बगैर एनओसी चल रहा था गोरखधंधा
आरटीओ ने बताया कि इस सिलसिले में ओम साईंराम और अग्रवाल मोटर के यार्ड के संचालक को नोटिस देकर बगैर एनओसी वाहनों को खुर्द-बुर्द नहीं करने की हिदायत दी है। उन्होंने बताया कि यार्ड संचालकों को पृथक से नोटिस देकर इस आशय के जवाब तलब किए जाएंगे कि बगैर एनओसी के वाहन क्यों काटे गए? उत्तर समाधान कारक नहीं पाए जाने पर दोषियों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही भी की जाएगी।    

गढ़ बना सतना कटने के लिए ग्वालियर तक से आते हैं वाहन
टैक्स चोरी और चोरी के वाहनों को फटाफट काट कर कबाड़ में तब्दील करने के गोरखधंधे का सतना एक बड़ा गढ़ बन चुका है। यही वजह है कि यहां दूर से दूर से कटने के लिए वाहन भेजे जातें हैं। दोनों यार्डों में दबिश के दौरान ये तथ्य भी सामने आया कि ग्वालियर, रीवा और उमरिया से कबाड़ करने के लिए भेजे गए अन्य वाहनों पर भी 3 लाख 66 हजार 775 रुपए का रोड टैक्स बकाया था।

इनका कहना है
दोनों यार्डों के संचालकों के साथ वाहन मालिकों को बगैर एनओसी वाहन काटने पर नोटिस देकर जवाब मांगे गए हैं। उत्तर समाधान कारक नहीं पाए जाने पर नियमों के तहत कानूनी कार्यवाही की जाएगी।
संजय श्रीवास्तव, आरटीओ सतना