आजमगढ़: बलिया के पत्रकारों के उत्पीड़न के विरोध में ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन ने, तहसील अध्यक्ष के नेतृत्व में एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

April 15th, 2022

 डिजिटल डेस्क, आजमगढ़ । ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन उत्तर प्रदेश तहसील ईकाई बूढ़नपुर द्वारा एक आवश्यक बैठक कर तहसील अध्यक्ष प्रवीण सिंह व मंडल उपाध्यक्ष रज्जाक अंसारी के नेतृत्व में महामहिम राज्यपाल को संबोधित उप जिलाधिकारी बूढ़नपुर को ज्ञापन सौंपा गया। बता दे कि बलिया जिले के पत्रकार अजीत ओझा, दिग्विजय सिंह, व मनोज गुप्ता अपने सूत्रों से खबर (समाचार ) एकत्रित करके शिक्षा माफियाओं, अधिकारियों का भंडाफोड़ कर रहे थे ।अपनी किरकिरी देख जिला प्रशासन ने शिक्षा माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई न करके उल्टे पत्रकारों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवा कर जेल भेज दिया। यह पत्रकारिता के स्वतन्त्रता का हनन है । और लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ पर हमला है। वक्ताओं ने कहा कि लोकतन्त्र के चौथे स्तम्भ जब सुरक्षित नहीं है, तो आम आदमी कैसे सुरक्षित रहेगा। यह पत्रकारों को डराने धमकाने का पूरा प्रयास है । पत्रकार जब सच लिखता है तो अपने गर्दन को बचाने के लिए जिला प्रशासन उन पत्रकारों पर मुकदमा दर्ज कर देता है। हमारा एसोसिएशन और हमारा पत्रकार साथी पत्रकार उत्पीड़न कत्तई बर्दाश्त नहीं करेंगे। बलिया के साथियों पर फर्जी ढंग से दर्ज करवाए गए मुकदमे को अतिशीघ्र वापस लिया जाए। साथ ही बिना शर्त जेल से रिहा करते हुए। पत्रकारों को फर्जी मुकदमे में फंसाने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। उपजिलाधिकारी को ज्ञापन देने के बाद एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष की अध्यक्षता में एक बैठक कर पत्रकार के समस्याओं पर  विचार-विमर्श किया गया । तथा सदस्यों के नये कार्ड पर भी विचार विमर्स किया गया। इस अवसर पर धर्मेंद्र सिंह उर्फ प्रवीण सिंह, जिलाध्यक्ष बृजभूषण उपाध्याय, मण्डल अध्यक्ष बीरभद्र प्रताप सिंह, रज्जाक अंसारी, दिनेश त्रिपाठी, संतोष कुमार मिश्रा, विवेक जयसवाल, सैयद शादाब अशरफ, अखिलेश चौबे, उपेंद्र पांडे, विवेक कुमार जयसवाल, अंगद सिंह फूलचंद यादव, देवी प्रसाद वर्मा सहित काफी संख्या में  पत्रकार उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...