comScore

दुष्कर्म के आरोपी बीएसएफ के जवान को  पश्चिम बंगाल से पकड़ लाई सतना पुलिस

दुष्कर्म के आरोपी बीएसएफ के जवान को  पश्चिम बंगाल से पकड़ लाई सतना पुलिस

 डिजिटल डेस्क  सतना। एक महिला से दुष्कर्म के बाद उसके अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने और जान से खत्म कर देने की धमकियां देने के आरोपी बीएसएफ ( सीमा सुरक्षा बल) के एक जवान  हिमांशु राज जैसवाल (28) को यहां से पश्चिम बंगाल के सीमा नगर नादिया पहुंची पुलिस की एक पार्टी ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस अधीक्षक रियाज इकबाल ने बताया कि उसे ट्रांजिट रिमांड पर लाया गया है। आरोपी  हिमांशु राज पिता बिजेश जैसवाल मूलत: पश्चिमी चंपारण(बिहार) के नवलपुर का रहने वाला है।
फेसबुक से हुई थी विवाहिता की दोस्ती 
पुलिस अधीक्षक ने बताया कि 18 जून को एक विवाहिता महिला ने महिला थाने में इस आशय की रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि बीएसएफ की 99 वीं बटालियन के जवान हिमांशु राज जैसवाल से 2 साल पहले फेसबुक पर उसकी दोस्ती हुई थी। दोस्ती गहराई तो आरोपी के मोबाइल नंबर 7250725072 और 8389059234 बातें होने लगीं। 23 फरवरी को उसने फोन कर बताया कि वह सतना में है और पन्ना रोड पर स्थित होटल में रुका है। महिला के आरोप के मुताबिक उसने उसे होटल पर बुलाया और दुष्कर्म किया और फिर  दर्शन करने के बहाने मैहर  घुमाने ले गया। मैहर के एक होटल में भी उसने बलात्कार किया। विरोध करने पर उसने महिला को अश्लील फोटो और वीडियो दिखाए और उन्हें सोशल मीडिया पर वायरल कर देने की भी धमकियां दीं।
 पति को खत्म कर देने की धमकियां 
महिला ने पुलिस को बताया कि इसके बाद दुष्कर्म का आरोपी उसे  बाद बार-बार मिलने के लिए फोन पर बुलाने लगा। इंकार करने पर उसने उसके  पति को जान से खत्म कर देने की भी धमकियां दीं। जब वह तरह-तरह से यातनाएं देने लगा तो अंतत: पीडि़ता महिला थाने पहुंची। महिला की रिपोर्ट पर आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 376, 506 और 294 के तहत अपराध दर्ज किया गया।
ऐसे आया पकड़ में 
मामले की गंभीरता के मद्देनजर पुलिस अधीक्षक रियाज इकबाल ने धारकुंडी के थाना इंचार्ज विक्रम पाठक के नेतृत्व में एक टीम गठित की। टीम में सिविल लाइन टीआई अर्चना द्विवेदी और महिला थाने की प्रभारी राजश्री रोहित को भी शामिल किया गया।  साइबर सेल ने जहां मोबाइल की टे्रकिंग शुरु की वहीं महिला के बताए गए होटलों के पतों पर तस्दीक की गई। जहां आरोपी के परिचय पत्र और आधार कार्ड की छाया प्रतियां मिलीं। आरोपी के पते ठिकाने और पहचान की तस्दीक हो जाने के बाद पुलिस की टीम पश्चिम बंगाल के सीमा नगर नादिया स्थित बीएसएफ की 99 वीं बटालियन के कैंप में पहुंची। आरोपी की मौजूदगी पाए जाने पर टीम लीडर ने सतना एसपी को वस्तु स्थिति से अवगत कराया। एसपी ने बीएसएफ के आईजी से बात की और आरोपी जवान की सुपुर्दगी मांगी। सतना पुलिस के हवाले किए जाने के बाद आरोपी को 4 जुलाई को पश्चिम बंगाल के कृष्णनगर में सीजेएम आनंदिता गांगुली की कोर्ट में पेश किया गया और उसे ट्रांजिट रिमांड लेकर पुलिस  यहां पहुंची।
 इन्होंने निभाई अहम भूमिका 
 पश्चिम बंगाल जाकर बीएसएफ के जवान की गिरफ्तारी में धारकुंडी के थाना प्रभारी विक्रम पाठक के अलावा सिविल लाइन टीआई अर्चना द्विवेदी और महिला थाने की प्रभारी राजश्री रोहित, आरक्षक अजीत मिश्रा, अरविंद सिंह, राहुल सिंह, मुरारी मिश्रा और सायबर सेल की टीम ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।
 

कमेंट करें
BnFDY
कमेंट पढ़े
atul kumar July 08th, 2020 16:02 IST

delly news pepar