दैनिक भास्कर हिंदी: चाचा के सामने नर्मदा की अथाह जलराशि में समा गए दो सगे भाई , दिन भर चली सर्चिंंग,नहीं लगा सुराग 

June 20th, 2020

डिजिटल डेस्क मंडला। नर्मदा के किनारे  चरने के लिए छोड़े गए मवेशियों को चाचा के साथ लेने गए दो सगे भाई नर्मदा की अथाह जल राशि में डूब गए। प्यास बुझाने गए  दोनो भाईयो का पैर फिसल गया और नदी के तेज बेग में बह गए। आवाज सुनकर जब तक चाचा ने पलटकर देखा तब तक दोनो काफी दूर निकल गए। घटना कोतवाली थाना क्षेत्र के गांव तिंदनी जिलेहरी घाट सुख संदेश आश्रम के पास की है। सुबह से होमगार्ड नपा और रक्षित केन्द्र के गोताखोर नर्मदा नदी में आगे करीब पांच किलोमीटर तक सर्चिग कर रहे है लेकिन अभी तक  कोई सुराग नहीं मिला है। घटना के बाद से परिवारजनो के हाल बेहाल है एक साथ घर के दो चिराग हादसे के शिकार हो गए।
बताया गया है कि  गांव तिंदनी जिलेहरी घाट स्थित सुख संदेश आश्रम के पास नर्मदा नदी की अथाह गहराई है। यहां ढलान होने के कारण तेज वेग से नर्मदा बहती है। आसपास काफी घास है ऊंचे ढीले और कुछ खेत है। जहां तिंदनी  निवासी दिनेश मरावी और अन्य किसान अपने यहां कीक मवेशी को चरने के लिए छोड़ जाते है। गत दिवस भी दिनेश मरावी और सन्नीश मरावी ने अपने मवेशी छोड़े। कुछ देर निगरानी करने के बाद चले गए। शाम को मवेशी को लेने के लिए चाचा सन्नीश मरावी के साथ अंतरिक्ष पिता दिनेश मरावी 13 वर्ष, आसू पिता दिनेश मरावी 10 वर्ष भी चले गए। यहां  दोनो भाईयो को प्यास लगी। चाचा ने नर्मदा में पानी पीने से मना किया कहा घर में जाकर पीना लेकिन दोनो ने कहा कि बहुत ज्यादा प्यास लगी और नीचे नर्मदा में उतर गए।
 दोनो आगे बढे किंतु ढलान पर पैर फिसल जाने के कारण वे लुढ़कते हुए गहराई में चले गए। आवाज सुनकर कुछ दूरी में खड़े जैसे ही चाचा ने देखा उसके होश उड़ गए। कुछ दूरी में सन्नीश को बड़ा भतीजा डूबते हुए दिखा उसने बचाने के लिए नर्मदा में छलांग भी लगाई लेकिन असफल रहा है। तेज वेग में पलभर दोनो भाई लापता हो गए।
 पांच किलोमीटर तक चल रही सर्चिग
नर्मदा के जिस घाट में दोनो भाई डूबे है वहां से लेकर पांच किलोमीटर तक होमगार्ड दल,पुलिस और नपा के गोताखोर सर्चिग कर रहे है। टीम सुबह पांच बजे से नर्मदा में पहुंच गई थी। दिनभर सर्चिग चलती रही है। पुलिस अफसर भी मौके पर पहुंचे लेकिन अभी तक दोनो मासूमो का कोई पता नहीं चला है। चौड़े पाट होने के कारण आगे रेस्क्यू दल के द्वारा जाल फैलाया जाएगा। शायद इससे दोनो बच्चो का पता चल सकें।