comScore

परासिया और पांढुर्ना में मिले दो कोरोना संक्रमित - 115 संदिग्धों की जांच रिपोर्ट में से दो  रिजेक्ट 

परासिया और पांढुर्ना में मिले दो कोरोना संक्रमित - 115 संदिग्धों की जांच रिपोर्ट में से दो  रिजेक्ट 

डिजिटल डेस्क छिंदवाड़ा। जिले के परासिया की एक महिला और पांढुर्ना के एक युवक की शुक्रवार को कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जबलपुर लैब से शुक्रवार दोपहर को 115 जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई थी। इनमें से 9 लोगों की जांच रिपोर्ट पेंडिंग थी। देर शाम प्राप्त हुई पेंडिंग रिपोर्ट में से मुंबई से लौटी परासिया ईडीसी की एक महिला और चेन्नई से लौटा पांढुर्ना का एक युवक पॉजिटिव आया है। दो लोगों के सेंपल रिजेक्ट हुए है। इस तरह 115 में से 111 संदिग्धों की जांच रिपोर्ट नेगेटिव आई है। पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद प्रशासनिक अधिकारियों ने परासिया और पांढुर्ना से संक्रमितों को 108 एम्बुलेंस के माध्यम से जिला अस्पताल लाकर भर्ती कराया है। दो नए संक्रमित मरीजों के मिलने के बाद अब 23 एक्टिव केस हो गए है।
ट्रेवल हिस्ट्री... मुंबई से लौटा परिवार, महिला संक्रमित-
परासिया के ईडीसी का एक परिवार 16 जून को मुंबई से लौटा था। दंपति समेत दो बच्चों का स्वाव सेंपल जांच के लिए जबलपुर भेजा गया था। शुक्रवार को पहली जांच रिपोर्ट में पति नेगेटिव आया। शाम को पेंडिंग जांच रिपोर्ट में दोनों बच्चे नेगेटिव आए। वहीं महिला की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। बताया जा रहा है कि मुंबई से लौटने के बाद परिवार के सदस्य क्वारेंटाइन नहीं हुए थे। अब महिला की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद प्रशासन उनकी कांटेक्ट हिस्ट्री तैयार कर रहा है। क्षेत्र को सील करने के साथ फस्र्ट कांटेक्ट में आने वाले 9 लोगों को क्वारेंटाइन किया गया है।
चेन्नई से लौटा था युवक, एक पहले ही पॉजिटिव-
चैन्नई से सौंसर और पांढुर्ना के तीन युवक ट्रेन से वापस लौटे थे। इन युवकों में से सौंसर का एक युवक पहले ही पॉजिटिव आ चुका है। युवक के पॉजिटिव आने पर एहतियात के तौर पर प्रशासन ने पांढुर्ना के युवक को 17 जून को क्वारेंटाइन किया था। 24 जून को दो युवकों का स्वाव सेंपल जबलपुर भेजा गया था। इनमें से एक युवक पॉजिटिव आया है। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद युवक के गृहग्राम मोही को सील किया जा रहा है। वहीं उसके परिवार को क्वारेंटाइन सेंटर में शिफ्ट किया गया है।
ट्रू नॉट से संदिग्ध मिले युवक की जांच रिपोर्ट नेगेटिव-
23 जून को परासिया के एक युवक के स्वाव सेंपल की ट्रू नॉट मशीन से जांच की गई थी। जांच में मशीन ने युवक को कोरोना संदिग्ध बताया था। जिसके बाद जिला अस्पताल से युवक का स्वाव सेंपल जबलपुर आईसीएमआर लैब भेजा गया था। शुक्रवार को युवक की जांच रिपोर्ट नेगेटिव आई है। गांगीवाड़ा के समीप स्थित एक ढाबा में युवक कर्मचारी था। कोरोना संदिग्ध मिलने पर एहतियात के तौर पर प्रशासनिक अमले ने ढाबा सील कर दिया था।
एक सेंपल पहुंचा ही नहीं जबलपुर लैब-
स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक बीते दिन जबलपुर आईसीएमआर लैब भेजे गए सेंपलों में से एक सेंपल पहुंचा ही नहीं। यहां से भेजी गई पैकिंग में स्वाव स्टिक नहीं थी। जिसकी वजह से स्वाव सेंपल फेल माना जा रहा है। संदिग्ध का अब दोबारा सेंपल जबलपुर भेजा जाएगा।
387 संदिग्धों के लिए स्वाव सेंपल-
जिला अस्पताल समेत जिले के अन्य कलेक्शन सेंटर से शुक्रवार को 387 संदिग्धों का स्वाव सेंपल लिया गया। इन सभी संदिग्धों के स्वाव सेंपल जांच के लिए जबलपुर मेडिकल कॉलेज भेजे गए है। आरएमओ डॉ.सुशील दुबे ने बताया कि जिले के हर कलेक्शन सेंटर से अधिक से अधिक स्वाव सेंपल कलेक्ट कर जांच कराई जा रही है।
ट्रू नॉट मशीन की रिपोर्ट पर संदेह-
जिला अस्पताल की ट्रू नॉट से एक युवक की संदिग्ध जांच रिपोर्ट आने और जबलपुर लैब से रिपोर्ट नेगेटिव आने पर मशीन पर संदेह जाहिर किया जा रहा है। इस संबंध में आरएमओ डॉ.सुशील दुबे ने बताया कि मरीज के शरीर में किसी भी प्रकार के वायरस होने पर मशीन उसे डिटेक्ट कर लेती है। ऐसा ही परासिया के युवक के साथ हुआ था। इसी वजह से जबलपुर आईसीएमआर लैब से जांच कराई जाती है। मशीन के परिणाम बेहतर आ रहे है।
 

कमेंट करें
StIKP