दैनिक भास्कर हिंदी: धार्मिक नगरी से हटाएं शराब दुकान, नहीं तो होगा आंदोलन- महिलाओं ने तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन

June 4th, 2018

डिजिटल डेस्क, ओरछा/टीकमगढ़। धार्मिक नगरी ओरछा में कोई शराब दुकान स्वीकृत नहीं है, फिर भी नियम विरुद्ध तरीके से बायपास पर शराब दुकान खोली गई। इससे हमें परेशानी होती है, इसलिए शराब दुकान यहां से हटाएं। शराब दुकान के विरोध में उतरीं महिलाओं ने तहसीलदार के सामने यह बात रखी और जल्द कार्रवाई की मांग उठाई। इसके साथ ही आंदोलन की चेतावनी दी।

रामराजा सरकार की पावन नगरी में युवा कांग्रेस के नेतृत्व में वार्ड 4 की महिलाओं एवं बच्चों द्वारा नगर में बायपास रोड पर ओरछा विकास प्राधिकरण कार्यालय के पास बनी शराब की दुकान को हटाने की मांग उठाई। इसके लिए ओरछा तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा।

कांग्रेस के जिला प्रवक्ता सचेंद्र यादव सहित क्षेत्रवासियों ने बताया कि पहले ओरछा नगर के अंदर कोई दुकान नहीं थी, लेकिन कुछ महीने पहले यह दुकान ओरछा नगर के बायपास रोड पर स्थापित कर दी गई। जबकि दुकान की स्वीकृति ओरछा नगर से दूर रामनगर रोड की है। शराब दुकान के कारण अक्सर शराबियों का जमावड़ा बना रहता है। बायपास रोड पर स्ट्रीट लाइट ना होने की वजह से अंधेरा बना रहता है। जिस कारण महिलाएं एवं बच्चों का निकलना खतरे से खाली नहीं रहता। रात को जब महिलाएं एवं बच्चे बाहर बैठे रहते हैं तो शराबी अक्सर बोतल फेंकते हुए एवं गाली-गलौच करते हुए निकलते हैं।

कलेक्टर तक शिकायत, कार्रवाई सिफर
दुकान हटाने के संबंध में वार्ड नंबर 4 के पार्षद हिरदेश राय ने पहले एक ज्ञापन दिया था। कुछ ही दिन पहले ओरछा नगर पालिका अध्यक्ष ने भी ज्ञापन कलेक्टर के नाम दिया था। जिसमें बायपास रोड से शराब दुकान को हटाए जाने की बात कही गई, लेकिन अभी तक इस संबंध में कोई कार्यवाही नहीं की गई। जिसके विरोध में ओरछा तहसील पहुंचकर वार्ड नंबर 4 की महिलाओं ने युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के द्वारा तहसीलदार को ज्ञापन देकर जल्द से जल्द कार्रवाई की मांग की।