दैनिक भास्कर हिंदी: Bday Spcl: जानिए बॉलीवुड के माउंटेन मैन की सक्सेस स्टोरी

May 19th, 2018

डिजिटल डेस्क, मुंबई। सरफरोश से फिल्मी करियर की शुरूआत करने वाले बॉलीवुड के फेमस एक्टर नवाजुद्दीन सिद्दिकी आज (19 मई ) अपना 45वां बर्थडे मना रहे हैं। 1999 से 2012 तक नवाजुद्दीन ने कई छोटी-बड़ी फिल्मों में अभिनय किया, लेकिन कोई खास पहचान नहीं मिली। फिर वो गैंग्स ऑफ वासेपुर में फैजल के रूप में सबके सामने आए और काफी पॉपुलर हो गए।

 

 

अब वो अपनी एक्टिंग के लिए फिल्म इंडस्ट्री में काफी मशहूर हो गए हैं। मगर नवाज ने एक पहचान दिलाने वाले रोल के लिए कड़ा संघर्ष किया। इस दौरान उन्होंने केमिस्ट की दुकान में नौकरी करने से लेकर वॉचमैन बनना तक मंजूर किया। आइए जानते हैं नवाज की सक्सेस स्टोरी। 

 

 

मुज्जफ्फरनगर के एक गांव में हुआ जन्म

18 साल के फिल्मी करियर में नवाज 50 से ज्यादा फिल्में कर चुके हैं। हालांकि उन्हें पहचान मिलने में काफी वक्त लग गया, लेकिन पिछले छह सालों में उन्होंने दिखा दिया है कि उनका संघर्ष खाली नहीं गया। नवाजुद्दीन सिद्दीकी का जन्म 19 मई 1974 को यूपी में मुज्जफ्फरनगर के एक छोटे से गांव बुढ़ाना में हुआ था। 1996 में दिल्ली के नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से अभिनय की पढ़ाई पूरी करने के बाद वो मुंबई आ गए थे और यहीं से उनके जीवन का संघर्ष शुरू हुआ। 

 

 

पिता के साथ खेत पर काम करते थे नवाज 

संघर्ष के दिनों में ही नवाज को पास के गांव में रहने वाली अंजली से प्यार हो गया था और जल्दी ही दोनों ने शादी कर ली थी। उनके दो बच्चे भी हैं। एक बेटी है जिसका नाम शोरा है। एक बेटा भी है जो उनके 41वें जन्मदिन पर पैदा हुआ था। नवाज के पिता किसान थे। नवाज जब छोटे थे तो सुबह चार बजे उठकर अपने पापा के साथ खेत में उनकी मदद करने जाते थे। खेत पर काम करने के बाद वो स्कूल जाते थे।

 

 

 

सिद्दीकी अपने छोटे भाई के साथ मुंबई में रहते हैं जो कि एक फिल्म निर्देशक हैं। एक इंटरव्यू के दौरान नवाजुद्दीन ने बताया था कि उन्होंने अपनी पत्नी को कभी किस नहीं किया। पहली बार मिस लवली को-स्टार निहारिका सिंह को ऑनस्क्रीन किस किया था। 

 

 

 

शीशे के सामने करते थे एक्टिंग की रिहर्सल

नवाजुद्दीन के गांव में कोई थियेटर नहीं था। फिल्म देखने के लिए उन्हें 45 किलोमीटर दूर जाना पड़ता था। बॉलीवुड में आने से पहले नवाजुद्दीन ने महज 5 फिल्में ही देखी थीं। इसके साथ ही वो शीशे के सामने खड़े होकर हर रोज एक्टिंग की रिहर्सल करते थे। ग्रेजुएशन के बाद नवाजुद्दीन ने मेडिकल शॉप पर कुछ दिन काम किया था। इसके बाद नवाज दिल्ली पहुंच गए और वहां पर चौकीदार का काम किया। हालांकि इन कामों के दौरान नवाज का रुख एक्टिंग की तरफ से नहीं मुड़ा और उन्होंने दिल्ली में ही थियेटर में दाखिला ले लिया।

 

 

 

सबसे पहले पेप्सी के ऐड में आए थे नजर

नवाजुद्दीन पहली बार पेप्सी के कैम्पेन ऐड 'सचिन आला रे' में नजर आए थे। जिसके लिए उन्हें सिर्फ 500 रुपए दिए गए थे। इस ऐड में वो धोबी बने थे। 2004 में कुछ फिल्मों में काम करने के बाद भी नवाज के पास खर्च के लिए पैसे नहीं थे। इस दौरान वो एनएसडी के अपने एक सीनियर के साथ रहते थे। मगर ये शर्त रखी गई थी कि नवाज उसके लिए रोज खाना बनाएगें। बॉलीवुड में अपनी अलग पहचान बनाने के लिए नवाजुद्दीन को करीब 12 साल का संघर्ष करना पड़ा। 

 

 

आमिर खान की फिल्म 'सरफरोश' से करियर की शुरुआत

19 साल पहले फिल्मी दुनिया अपने करियर की शुरुआत आमिर खान की फिल्म 'सरफरोश' से की थी। इस फिल्म में नवाज ने एक छोटा सा किरदार निभाया था। इसके बाद न्यूयॉर्क फिल्म में नवाजुद्दीन की एक्टिंग ने फिल्म डायरेक्टर कबीर बेदी का दिल जीत लिया था। इस फिल्म को देखने के बाद कबीर, नवाज से इतने प्रभावित हुए कि उन्होंने 'बजरंगी भाईजान' के लिए नवाजुद्दीन को रोल ऑफर कर दिया था।

 

 

फिर 2012 अनुराग कश्यप की फिल्म गैंग्स ऑफ वासेपुर से नवाजुद्दीन की किस्मत का सितारा चमक गया। इस फिल्म में नवाज ने  'फैजल' का किरदार निभाया था। फिल्म में उनके काम को खूब पसंद किया गया और इसी से वो स्टार बन गए। इसके बाद नवाजुद्दीन ने कई सुपरहिट फिल्में दी।

 

 

कई सुपरहिट फिल्मों  निभाया किरदार

उन्होंने 2014 में सलमान खान के साथ फिल्म किक में काम किया। 2014 में बदलापुर, 2016 में वो रईस और मॉम में नजर आए। 2017 में बाबूमोशाय बंदूकबाज़ में दिखे। द माउंटेन मैन में उनके किरदार को काफी पसंद किया जाता है। हाल ही में वो मंटो में नजर आने वाले हैं। नवाजुद्दीन सिद्दीकी की फ‍िल्‍म 'मंटो' का टीजर र‍िलीज हो चुका है। फिल्म में वो मशहूर लेखक सआदत हसन मंटो के रोल में नजर आएंगे। टीजर में नवाजुद्दीन की जबरदस्‍त ऐक्‍ट‍िंग की झलक देखने को म‍िली है। 

 


 

नवाज की बायोग्राफी

अपनी बायोग्राफी 'एन ऑर्डिनरी लाइफ' में नवाजुद्दीन ने सुनीता राजवर और निहारिका सिंह के साथ अपने प्यार और ब्रेकअप के बारे में बताया है। दोनों ही एक्ट्रेस ने 'किक' स्टार के दावों को खारिज कर दिया था।

 

 

जिसके बाद मामला बढ़ता देख नवाजुद्दीन ने अपनी किताब वापस ले ली थी। यही नहीं सुनीता राजवर ने नवाज को अपनी छवि खराब करने के लिए दो करोड़ रुपए का कानूनी नोटिस भी भेजा था। 

 


 

रामलीला में रोल करने को लेकर चर्चा में आए

2016 में दशहरे के वक्त नवाजुद्दीन चर्चा में आए थे। उस वक्त वो रामलीला में मारीच का रोल करने वाले थे, लेकिन शिवसेना ने गांव में रामलीला नहीं करने दी। नवाजुद्दीन के गांव की रामलीला कमेटी के लोग चाहते थे कि नवाजुद्दीन रामलीला में मारीच का रोल करें। नवाजुद्दीन ने इसके लिए काफी रिहर्सल भी की थी। तभी शिवसेना के लोगों ने उनके मुस्लिम होने के चलते वहां पहुंचकर विरोध किया। जिसके बाद उन्होंने रामलीला से अपना नाम वापस ले लिया था। 

 

 

फिलहाल नवाजुद्दीन शिवसेना के संस्थापक बालासाहेब ठाकरे की बायोपिक में मुख्य किरदार निभा रहे हैं।

 


 

पत्नी की जासूसी को लेकर विवादों में रहे नवाज

कुछ दिनों पहले नवाजुद्दीन विवादों में भी थे। नवाज पर अपनी पत्नी की जासूसी का आरोप लगा था। कॉल डेटा रिकॉर्ड CDR मामले में हुए खुलासे के तहत नवाज का नाम भी सामने आया था। खबरों के मुताबिक नवाज को अपनी पत्नी पर भरोसा नहीं था और उन्होंने उनके पीछे महिला जासूस लगा रखी थी।

 

 

इतना ही नहीं नवाज अपने वकील के जरिए पत्नी के मोबाइल की पूरी जानकारी जुटाते थे। वकील रिजवान सिद्दीकी नवाज की मदद करते थे। पुलिस ने रिजवान सिद्दीकी को गिरफ्तार भी किया था। हालांकि विवाद बढ़ता देख उनकी पत्नी ने बयान दिया था कि ऐसा कुछ भी नहीं है।