comScore

Sex education: क्या आप जानते हैं पोर्न वीडियो देखने का दिमाग पर क्या होता है असर?

Sex education: क्या आप जानते हैं पोर्न वीडियो देखने का दिमाग पर क्या होता है असर?

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। इंटरनेट की दुनिया में पोर्नोग्राफी का कारोबार तेजी से बढ़ रहा है। टीनएजर्स से लेकर बड़ों तक हर कोई पोर्न का आदी होता नजर आ रहा है, लेकिन बहुत कम ही लोगों का इस बात का पता है कि लगातार पोर्नोग्राफी (Pornography) देखने से आपके दिमाग पर दुष्प्रभाव पड़ता है। सेक्सुअल फैंटेसीज को एक्सप्लोर करने के लिए बनाई गई पोर्न फिल्में जहां एक ओर कामेच्छा को बढ़ाती है और अंतरंग संबंधों को बेहतर करती हैं वहीं इसके कई दुष्प्रभाव भी हैं। जिन्हें जानना आपके लिए बहुत जरुरी है। 

यह भी पढ़ें: Sex education: क्या शादी के बाद सेक्स करने से भी बढ़ता है मोटापा ? जानें क्या है वजह

जब हम पोर्न वीडियो देखते हैं तो हमारे शरीर में पाए जाने वाला मूड-बूस्टिंग हॉर्मोन का स्त्रावण बढ़ जाता है। इसका सीधा असर दिमाग पर होता है। इस दौरान हमारे दिमाग में सेक्स से जुड़े ख्याल आने लगते हैं। कई तरह की नई चीजें जन्म लेने लगती हैं। एक रिसर्च रिपोर्ट के मुताबिक पोर्न फिल्में देखने के दौरान डोपामाइन हार्मोन्स (dopamine Hormone) भी बढ़ जाता है। ये एक ऐसा न्यूरो ट्रांसमीटर है जिससे खुशी का एहसास होता है। पोर्न फिल्में देखने वाले मर्दो के दिमाग संकुचित हो जाते हैं। दिमाग का स्ट्रिएटम (striatum) हिस्सा, जोकि मोटिवेशन और रीवॉर्ड के लिए प्रतिक्रिया देता है, सिकुड़ जाता है।

यह भी पढ़ें: Sex education: क्या 50 साल की उम्र में सेक्स करना सही है ? जानें ये जरूरी बातें 

बता दें कि अगर कोई व्यक्ति बहुत ज्यादा पोर्न फिल्में देखता है तो उसे खुशी का अनुभव होना बंद हो जाता है। किसी भी तरह की एक्साइटमेंट नहीं रहती है। चिकित्सकों की मानें तो रेग्युलर पोर्न देखने वालों में समय के साथ सेक्स और अंतरंग संबंधों को लेकर उत्साह में कमी आ जाती है। एक रिसर्च रिपोर्ट के मुताबिक लगातार पोर्न देखने वालों में सेंसेशन नहीं रह जाती है। स्टडी ने अपनी अंतिम पंक्त‍ि में कहा कि पोर्न फिल्मों की वजह युवकों को एक ऐसी पीढ़ी तैयार हो रही है जो अपने वैवाहिक जीवन में अच्छे नहीं हैं।

कमेंट करें
NZ2Fk