अफगानिस्तान : अफगानिस्तान और पाकिस्तान करेंगे वीजा सुविधा आयोग का गठन

July 23rd, 2022

हाईलाइट

  • चुनौतियों का समाधान

डिजिटल डेस्क, काबुल। तालिबान के नेतृत्व वाली सरकार ने घोषणा की कि पाकिस्तान के लिए वीजा की सुविधा के लिए एक संयुक्त आयोग का गठन किया जाएगा, जिसमें अफगान विदेश मंत्रालय और काबुल में पाकिस्तान के दूतावास के प्रतिनिधि शामिल होंगे।

टोलो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, कार्यवाहक वाणिज्य और उद्योग मंत्री नूरुद्दीन अजीजी ने कहा कि दोनों देश वीजा प्राप्त करने में लोगों की चुनौतियों का समाधान करने के लिए काम करेंगे।

मंत्री नूरुद्दीन अजीजी ने आगे कहा, वे अफगानिस्तान के लोगों को वीजा जारी करने के लिए एक आसान और बेहतर तंत्र के लिए बैठकें और चर्चा करेंगे।

पिछले साल अगस्त में तालिबान के काबुल पर कब्जा करने के बाद ईरान और पाकिस्तान को छोड़कर अधिकांश देशों ने अफगानिस्तान के नागरिकों को वीजा जारी करना बंद कर दिया है।

काबुल के कुछ निवासियों ने कहा कि पाकिस्तानी वीजा प्राप्त करने के लिए हफ्तों इंतजार करने के बावजूद उनके अनुरोधों को खारिज कर दिया गया।

काबुल निवासी लाइक अहमद ने टोलो न्यूज को बताया, हम अधिकारियों से वीजा प्राप्त करने की प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए कहते हैं, क्योंकि कुछ मरीज ऐसे हैं जिनकी स्वास्थ्य स्थिति गंभीर है।

इसी कड़ी में अफगान राजधानी के एक अन्य निवासी सोहराबी ने कहा, अगर हम अभी वीजा के लिए आवेदन करते हैं, तो इसे जारी होने में दो महीने से अधिक का समय लगेगा, कभी वीजा आता है, कभी इसे खारिज कर दिया जाता है।

 

आईएएनएस

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

खबरें और भी हैं...