comScore

पीरियड मिस होने से पहले जानें कि आप प्रेग्नेंट है या नहीं 

पीरियड मिस होने से पहले जानें कि आप प्रेग्नेंट है या नहीं 

हाईलाइट

  • प्रेग्नेंट है या नहीं पीरियड मिस होने से पहले कैसे जानें
  • पीरियड मिस होने के अलावा भी है प्रेग्नेंसी के कई लक्षण
  • जानें क्या हैं वो लक्षण

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पीरियड मिस होने पर सबसे पहली बात जो एक महिला के दिमाग में आती है वो है प्रेग्नेंसी। अक्सर पीरियड मिस होने पर महिलाओं को लगता है कि कहीं वो प्रेग्नेंट तो नहीं हो गई हैं। वहीं महिलाएं प्रेग्नेंसी के कन्फॉरमेशन के इंतजार में वो सब कुछ नहीं कर पाती जो वो उस अवधि में करना चाह रही थीं। जिसके वजह से उन्हें स्ट्रेस और घबराहट होने लगती है। हालांकि ऐसे कई तरीके है जिनसे आप बिना प्रेग्नेंसी टेस्ट के जान पाएंगी की आप प्रेग्नेंट हैं या नहीं। तो आइए बताते है आपको इन लक्षणों के बारे में 


शुरुआती गर्भावस्था (Pregnancy) के लक्षण के वजह से हार्मोनस में चैंज आता है। कई महिलाएं इसे पीएमएस (PMS) के तरह ही महसूस करती हैं। हालांकि, पीएमएस सिर्फ कुछ दिनों के लिए ही होता है, जबकि गर्भावस्था के लक्षण लंबे समय तक रहते हैं और शरीर में कई अन्य बदलावों के साथ आते हैं। वो लक्षण क्या हैं उसके लिए आगे पढ़ें

प्रेग्नेंसी से बचने के लिए कब ना करें सेक्स, कैसे होते है प्रेग्नेंट, जानें
 

ऐंठन (Cramps)
इनकमिंग पीरियड या प्रीमेंस्ट्रुअल सिंड्रोम (premenstrual syndrome) यह संकेत भी हो सकता है कि आप प्रेगनेंट हैं। जब भ्रूण (Embryo) गर्भाशय (Uterus) में प्रत्यारोपित (Implanted) हो जाता है, तो कभी-कभी महिलाओं को ऐंठन और दर्द का अनुभव होता है। हालांकि हमेशा ऐसा नहीं होता है, लेकिन यह एक सकारात्मक संकेत है।


कुछ खाद्य पदार्थों को खाने की इच्छा ना होना (Aversion to certain foods) 
गर्भावस्था के दौरान कुछ खाद्य पदार्थों को खाने की इच्छा नहीं होती है। उल्टी जैसा मन होने लगता है। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि एस्ट्रोजन आपकी इंद्रियों को प्रभावित करता है। ऐसा हो सकता है कि गर्भावस्था के शुरुआती दिनों में आपको कुछ खाद्य पदार्थों के प्रति देखने तक का मन न करें या शरीर में सूजन का अनुभव भी हो सकता है। सभी परिवर्तनों पर ध्यान दें यदि आप भूख महसूस कर रहे हैं या फिर अपने रोजमर्रा के शैड्यूल के हिसाब से आपको भूख नहीं लग रही है तो ये भी प्रेग्नेंसी का लक्षण है। 


ब्रेस्ट में सूजन (swollen breasts)
जब गर्भाधान (Conception) होता है, तो शुरुआत में ब्रेस्ट में कुछ दर्द महसूस होता है। ऐसा ब्रेस्ट के आकार में परिवर्तन के कारण भी होता है, जब एस्ट्रोजेन के स्तर में वृद्धि होने लगती है। 


ज्यादा बाथरूम जाना (Increased urge to pee all the time)
क्या आप पीरियड के इंतजार में पहले से ज्यादा बार वॉशरूम जा रहे हैं? अगर ऐसा है तो आपको प्रेग्नेंसी टेस्ट करने की जरूरत है क्योंकि स्टडी में कहा गया है कि दो सप्ताह के गर्भाधान (conception) के बाद अधिक पी (Pee) आना शुरू होता है।


BBT में बदलाव
बेसल बॉडी टेम्परेचर (BBT) आराम करते समय आपके शरीर के तापमान को मापने का एक तरीका है। यह आमतौर पर ओव्यूलेशन (Ovalution) के दौरान बढ़ जाता है। जबकि प्रोजेस्टेरोन (Progesterone) इसके तापमान को कम करने की कोशिश करता है तब, जब आप अपने मैन्सट्रूयल साइकिल (menstrual cycle) के बीच में होती हैं। बीबीटी को रोजाना ट्रैक करना, कम से कम 10 दिनों या उससे अधिक दिनों के लिए, इससे आप अपनी प्रेग्नेंसी कंफॉर्म कर सकती है। 

 
 

Study: सेक्स के बाद महिलाओं को पुरुषों की तुलना में बेहतर नींद आती है

कमेंट करें
W5YpR