क्लोजिंग बेल: सपाट स्तर पर बंद हुआ बाजार, सेंसेक्स 32 अंक ऊपर, निफ्टी फिसला

September 2nd, 2022

हाईलाइट

  • सेंसेक्स 36.74 अंक ऊपर 58,803.33 के स्तर पर बंद हुआ
  • निफ्टी 3.35 अंक नीचे 17,539.45 के स्तर पर बंद हुआ

डिजिटल डेस्क, मुंबई। उच्च अस्थिरता के बीच देश का शेयर बाजार कारोबारी सप्ताह के पांचवे और आखिरी दिन (02 सितंबर 2022, शुक्रवार) सपाट स्तर पर बंद हुआ। इस दौरान सेंसेक्स और निफ्टी दोनों ही हरे निशान पर रहे। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (BSE) के 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 36.74 अंक यानि कि 0.06% ऊपर 58,803.33 के स्तर पर बंद हुआ। 

सप्ताह के अंतिम व्यापारिक दिन शुक्रवार को भारतीय शेयर बाजार ने एक सकारात्मक प्रारंभ के पश्चात दिन के मध्य 17643.85 का स्तर छुआ परंतु ऊंचे स्तरों पर यह टिक नहीं पाया एवम 3.35 अंकों की सामान्य हानि के साथ 17593.45 पर बंद हुआ।बैंक निफ्टी  119.75 अंक गिर 39421 पर रहा।8 सितंबर का पुट कॉल रेश्यो 0.81है जो मंदड़ियों की सक्रियता दर्शाता है।निफ्टी के 50 शेयरों में 34 में गिरावट रही जो व्यापक बिकवाली दर्शाते हैं।क्षेत्र विशेष में निफ्टी फिन सर्विस,मीडिया तथा एफ एम सी ज़ी सूचकांक .5  में  .3 प्रतिशत की बढ़त रही जबकि एनर्जी, पीएसयू बैंक तथा फार्मा में बिकवाली दिखी।इंडिया विक्स 1.62 प्रतिशत नीचे हो 19.55 पर बंद हुआ।निफ्टी के शेयरों में आईटीसी, एचडीएफसी ,अदानी पोर्ट, एलएंडटी तथा अपोलो हॉस्पिटल में सर्वाधिक बढ़त रही जबकि बीपीसीएल,श्री सीमेंट,हीरो मोटर एवम हिंडाल्को में सबसे अधिक हानि रही।

तकनीकी मोर्चे पर,निफ्टी एक सीमा में ट्रेड कर रहा है तथा 17450 पर एक अच्छा आधार बना लिया है,इससे ऊपर बने रहने पर बाजार में कुछ शक्ति बनी रह सकती है।निफ्टी में 21एचएमए तथा बॉलिंगर लोअर बैंड के आवरली चार्ट पर एक सपोर्ट लिया है जो एक तेजी की चाल के लिए संकेत दे रहा है।

निफ्टी के ओपन इंटरेस्ट आंकड़ों में कॉल में सर्वाधिक ओपन इंटरेस्ट 17800,फिर 17700 पर है जबकि पुट में यह 17300 पर हैं।मोमेंटम संकेतक स्टोकिस्टिक ने ओवरसॉल्ड क्षेत्र से पुनर्वापसी की है तथा दैनिक समयाविधि में सकारात्मक क्रॉसओवर के साथ ट्रेड कर रहा है।निफ्टी का सपोर्ट 17450 पर स्थांतरित हो गया है एवम 17700 एक तात्कालिक अवरोध है।बैंक निफ्टी का सपोर्ट 38500 तथा अवरोध 40000 है।
 कुल मिलाकर क्षेत्र विशेष में गतिविधियां दिख रही हैं।

मुख्यतया मीडिया तथा एफएमसीजी स्टॉक आनेवाले सत्रों  में तेज लग रहे हैं।निवेशक गिरावट पर खरीदारी कर सकते हैं।मंदडियें हालांकि मार्केट को अपने नियंत्रण में लेने का भरसक प्रयास कर रहे हैं किंतु तेजडिये उन्हें सरलता से ऐसा नही करने दे रहे।

दुर्बल विदेशी संकेतों के कारण पिछले कुछ सत्रों में भारतीय शेयर बाजार भी थोड़े फिसले हैं,यदि सोमवार को अच्छी बढ़त के साथ बंद होने में सफल नहीं रहते तो फिर एक बड़ी प्रॉफिट बुकिंग देखी जा सकती है।नवीन ट्रेंड के लिए सोमवार को बाजार के रुख पर विशेष ध्यान रखे।


पलक कोठरी
सीनियर टेक्निकल एनालिस्ट
चॉइस ब्रोकिंग

Source: Choice India