दैनिक भास्कर हिंदी: पूर्व केंद्रीय मंत्री बंडारू दत्तात्रेय के 21 वर्षीय बेटे की हार्ट अटैक से मौत

May 23rd, 2018

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। बीजेपी सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री बंडारू दत्तात्रेय के 21 वर्षीय बेटे बंडारू वैष्णव की हार्ट अटैक से मौत हो गई। मंगलवार देर रात वैष्णव के सीने में अचानक दर्द हुआ जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। इलाज के दौरान ही बंडारू वैष्णव ने अंतिम सांस ली। दरअसल बंडारू वैष्णव MBBS की पढ़ाई कर रहे थे। वर्तमान में वो MBBS के थर्ड ईयर में था। बताया जा रहा है कि सीने में दर्द की शिकायत के बाद वैष्णव को सिकंदराबाद के गुरु नानक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 

 

 

71 वर्षीय बंडारू दत्तात्रेय फिलहाल तेलंगाना के सिकंदराबाद से सांसद हैं। वो केंद्र की मोदी सरकार में 1 सितंबर 2017 तक श्रम रोजगार मंत्री भी रह चुके हैं। इसके अलावा बंडारू दत्तात्रेय अटल बिहारी वाजपेयी के शासन में भी केंद्र में मंत्री रह चुके हैं। बंडारू दत्तात्रेय की दक्षिण भारत की राजनीति में अपनी अलग पहचान है। आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में बीजेपी को स्थापित करने में उनकी काफी बड़ी भूमिका मानी जाती है।

 

गौरतलब है कि अटल बिहारी वाजपेयी और लाल कृष्ण आडवाणी के समय से ही बंडारू दत्तात्रेय बीजेपी से जुड़े हुए हैं। फिलहाल पिछले कुछ समय से दत्तात्रेय केरल में भी बीजेपी को स्थापित करने के लिए काफी प्रयास में जुटे हुए हैं।  उन्होंने पिछले साल केंद्रीय मंत्रिमंडल में फेरबदल से पहले ही मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। बंडारू दत्तात्रेय ने श्रम रोजगार मंत्री ( स्वतंत्र प्रभार ) पद से इस्तीफा दिया था। दत्तात्रेय तेलंगाना की सिकंदराबाद लोकसभा सीट से सांसद हैं। वो 2014 में मोदी सरकार की कैबिनेट में मंत्री बने थे। 

 

 

दत्तात्रेय का नाम उन दिनों भी चर्चा में था, जब हैदराबाद यूनिवर्सिटी के छात्र रोहित वेमुला की आत्महत्या के मामले ने तूल पकड़ा था। दत्तात्रेय ने तत्कालीन मानव संसाधन मंत्री स्मृति ईरानी को चिट्ठी लिखकर इस मुद्दे पर विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कही थी।