दैनिक भास्कर हिंदी: उत्तर भारत में कहीं आंधी-तूफान तो कहीं फटे बादल, यूपी में 19 की मौत

June 3rd, 2018

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। मई महीने की शुरुआत से उत्तर भारत में जारी आंधी-तूफान का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। उत्तर प्रदेश में शनिवार को चली तेज आंधी से हुए हादसों में 19 लोगों की मौत हो गई, जबकि करीब 32 लोग घायल हुए हैं। वहीं बारिश से बेहाल मुंबई में करंट की चपेट में आने से दो बच्चों सहित तीन की मौत हो गई।

 

तूफान की तबाही

यूपी के मुरादाबाद, मुजफ्फरनगर, मेरठ, अमरोहा और संभल आंधी-तूफान ने सबसे ज्यादा ताबाही मचाई। जगह-जगह पेड़ उखड़ गए, बिजली के खंभे गिर गए, गाड़ियां क्षतिग्रस्त हो गईं। सड़क यातायात भी प्रभावित रहा। बिजली के खंभे गिरने से बिजली आपूर्ति पर भी असर पड़ा। वहीं बिहार में भी आंधी-तूफान ने कई लोगों की जान ले ली। आधा दर्जन से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं। पटना, पश्चिम चंपारण, दरभंगा, नालंदा, शिवहर, कटिहार और समस्तीपुर में तूफान का सबसे ज्यादा असर देखने को मिला।

 

गुजरात में बारिश

गुजरात के सौराष्ट्र और दक्षिण गुजरात अंचल में शनिवार को धूल भरी तेज हवाओं के साथ अमरेली के सावरकुंडला, भावनगर के गारियाधार और डांग में बारिश हुई। इसके चलते स्थानीय मौसमी नदी नावली नदी में उफान आ गया। जिससे एक कार बह गई। 

 

मुंबई में बारिश से करंट का कहर

सीजन की पहली ही बारिश से ही मुंबई बेहाल हो गई। कई विमानों का रूट डायवर्ट किए गए। कई इलाकों में पानी भरने से सड़कों पर घंटों जाम लगा रहा। भांडुप और शिवकृपा नगर इलाके में करंट लगने की दो घटनाओं में दो बच्चों सहित तीन की मौत हो गई वहीं एक गंभीर रूप से घायल है।
 

रविवार को तूफान-बारिश की संभावना

मौसम विभाग ने रविवार को दिल्ली सहित तमिलनाडु, केरल और कर्नाटक में कई इलाकों में तेज आंधी-तूफान के साथ बारिश की संभावना जताई है। शुक्रवार को भी देश का उत्तरी भाग आंधी-तूफान की चपेट में ही रहा। कहीं धूल भरी आंधी चली, कहीं तेज तूफान आया तो कहीं बादल फटे। राजधानी दिल्ली समेत उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में मौसम की मार का ज्यादा प्रभाव देखा गया। उत्तराखंड में जहां बादल फटने से चारधाम यात्री सड़कों पर फंस गए हैं। 



उत्तराखंड में फटे बादल, चार धाम यात्री फंसे


उत्तराखंड में शुक्रवार को उत्तरकाशी, पौड़ी और टिहरी में बादल फटे। पौड़ी के थलीसैण ब्लाक के स्योलिखण्ड क्षेत्र में बादल फटने से क्षेत्र के कई हिस्सों में पानी भरा रहा। टिहरी के घंसाली में भी बादल फटने के बाद भारी बारिश हुई। यहां द्वारी और थापला पट्टी फेगुल इलाके में बादल फटने से नदी नाले उफान पर हैं। इसके चलते चारधाम यात्री भी सड़कों पर फंसे रहे। उत्तरकाशी के बड़कोट में भी बादल फटने की खबर थी। हालांकि बादल उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने उत्तराखंड में कई जगह बादल फटने की खबरों को खारिज करते हुए कहा कि उत्तराखंड में केवल पौड़ी में बादल फटे।

 

 


 दिल्ली में भी कुछ ऐसा ही मंजर रहा। यहां भी तूफान में कहीं पेड़ उखड़ गए तो कहीं बिजली के तार टूट गए। दिल्ली के अलीपुर इलाके में तेज आंधी में बिजली का खंभा गिरने से एक शख्स की मौत भी हुई है।



अगले 24 घंटे में फिर आंधी-तूफान की चेतावनी


मौसम विभाग के अनुसार उत्तर भारत के कई क्षेत्रों में अगले 24 घंटे में आंधी-तूफान के साथ तेज बारिश हो सकती है। इन क्षेत्रों में यूपी के सीतापुर, गोण्डा, फैजाबाद, वाराणसी समेत बरेली, मुरादाबाद और रामपुर शामिल हैं। इसके साथ ही दिल्ली से जुड़े हरियाणा और पंजाब के कई इलाकों में भी आंधी आने की संभावना जताई गई है।