दैनिक भास्कर हिंदी: RSS का मोदी सरकार पर हमला, पूछा-बिना युद्ध के क्यों शहीद हो रहे सैनिक?

January 18th, 2019

हाईलाइट

  • नागपुर में प्रहार समाज जागृति संस्थान के कार्यक्रम में बोले भागवत
  • मोहन भागवत बोले, सेना के जवानों के शहीद होने का क्रम जारी
  • भागवत ने कहा कि हम अपने काम पर ध्यान नहीं दे रहे

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। राष्ट्री स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है। भागवत ने सरकार से पूछा है कि बॉर्डर पर सेना के जवानों की शहादत क्यों हो रही है, जबकि किसी से कोई युद्ध नहीं हो रहा है। भागवत ने कहा कि ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि हम अपने काम पर ध्यान नहीं दे रहे हैं।

नागपुर में प्रहार समाज जागृति संस्था के रजत जयंती कार्यक्रम को संबोधित करते हुए आरएसएस प्रमुख ने कहा कि अंग्रेजों से आजादी मिलने के पहले वतन के लिए कुर्बानी दी जाती थी। आजादी मिलने के बाद जब युद्ध हुए तो कई भारतीय सैनिकों ने दुश्मनों से लड़ते हुए अपनी जान की बाजी लगा दी और देश की सुरक्षा के चलते अपना सबकुछ कुर्बान कर दिया। इसके बाद भागवत ने मौजूदा दौर में जवानों की शहादत पर सवाल खड़ा कर दिया।

आरएसएस चीफ ने कहा कि इस वक्त हमारे देश में कहीं कोई युद्ध नहीं चल रहा है, लेकिन फिर भी सेना के जवानों के शहीद होने का क्रम जारी है। उन्होंने कहा कि युद्ध के अलावा ऐसा कोई कारण नहीं है, जब सैनिकों को अपनी जान गंवाना पड़े, लेकिन फिर भी ऐसा हो रहा है। भागवत ने जवानों की शहादत रोकने का अह्वान भी किया।

 

 

भागवत के बयान को सियासी लिहाज से काफी खास माना जा रहा है। जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के सफाए को लेकर केंद्र सरकार हमेशा खुद की पीठ थपथपाती रही है, लेकिन भागवत के बयान के बाद विपक्ष को ससरकार पर हमला करने का मौका मिल गया है। आरटीआई के आंकड़ों के मुताबिक 2014 से 17 के बीच जम्मू-कश्मीर में 183 जवानों की शहादत हुई, जबकि 62 नागरिक भी मारे गए। तीन सालों में कुल 812 आतंकी घटनाएं सामने आईं।

 

 

 

खबरें और भी हैं...