comScore

उफान पर यमुना: हरियाणा ने फिर छोड़ा पानी, दिल्ली में राहत शिविर में 10 हजार लोग

July 31st, 2018 13:34 IST

हाईलाइट

  • दिल्ली में यमुना के खतरे का निशान 204.83 है, जबकि नदी करीब 206 मीटर पर बह रही है।
  • सोमवार रात 10 बजे हरियाणा के यमुनानगर के हथिनीकुंड बांध से 26096 क्यूसेक पानी छोड़ा गया।
  • जल स्तर बढ़ने के बाद यमुना पर बने लोहे के पुल को यातयात के लिए बंद कर दिया गया है।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। दिल्ली में बाढ़ का खतरा दिन ब दिन बढ़ता जा रहा है। निचले इलाकों में रहने वाले तकरीबन 10 हजार लोगों को राहत शिविरों में पहुंचा दिया गया है। हरियाणा से लगातार पानी छोड़ा जा रहा है। दिल्ली में यमुना के खतरे का निशान 204.83 मीटर है, जबकि नदी करीब 206 मीटर पर बह रही है। सोमवार रात 10 बजे हरियाणा के यमुनानगर के हथिनीकुंड बांध से 26096 क्यूसेक पानी छोड़ा गया। मंगलवार सुबह 5 बजे यमुना खतरे से निशान से 1 मीटर से ज्यादा ऊपर बह रही थी।


जल स्तर बढ़ने के बाद यमुना पर बने लोहे के पुल को यातयात के लिए बंद कर दिया गया है। पुल बंद होने से कई रूट बदलने पड़े, 27 पैसेंजर ट्रेनें भी रद्द हो गईं हैं। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने पुल से गुजरने वाले ट्रैफिक को डायवर्ट कर दिया है। यमुना से सटे निचले इलाकों को भी खाली कराया जा रहा है।


बारिश और बाढ़ से अब तक देशभर में 539 मौत हो चुकी हैं। लगातार हो रही तेज बारिश ने दिल्ली के लोगों का जीवम अस्त-व्यस्त कर दिया है। सोमवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल यमुना मामले में अधिकारियों के साथ आपात बैठक कर इंतजामों का जायजा भी ले चुके हैं। डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने यमुना किनारे इलाकों का दौरा भी किया था। पूर्वी दिल्ली के डीएम के महेश ने बताया कि मंगलवार सुबह 9 बजे यमुना का जलस्तर 208.83 था, जो खतरे के निशान (206.3) से काफी ज्यादा है। यमुना में 24,992 क्यूसेक पानी छोड़ने के कारण जलस्तर बढ़ा, उम्मीद है बारिश रुकने पर यह कम होगा।

कमेंट करें
x7Mnz