comScore

मां नदी में जहां गेहूं धोती रही वहीं डूब गया ढाई साल का बेटा और उसे पता ही नहीं चला 

मां नदी में जहां गेहूं धोती रही वहीं डूब गया ढाई साल का बेटा और उसे पता ही नहीं चला 

डिजिटल डेस्क, कटनी। गेहूं धोने नदी पर आई एक मां के पीछे - पीछे उसका ढाई साल का बेटा भी आ गया। मां तो अपने काम में व्यस्त हो गई, किंतु उसका बेटा कब नदी की गइराई में समा गया उसे पता ही नहीं चला। बेटे की इस तरह मौत हो जाने से जहां उस मां का बुरा हाल है, वहीं पूरे गांव में मातम पसरा हुआ है।  

इस संबंध में बताया गया है कि मां नदी में गेहूं धोती रही, वहीं खेल रहा कलेजे का टुकड़ा खेलते-खेलते कब नदी में डूबा उसे ही पता नहीं चला। जब मासूम घर पर भी नहीं दिखा तब खोजबीन शुरू हुई, लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। अपने बेटे की नदी में लाश देखकर मां चीख पड़ी। यह घटना गुरुवार सुबह एनकेजे थानांतर्गत ग्राम सरसवाही में सामने आई। प्राप्त जानकारी अनुसार ग्राम सरसवाही निवासी सतेंद्र यादव की पत्नी  शशि बाई यादव गुरुवार सुबह घर के पास उमराड़ नदी में गेहूं धोने गई थी।

मां को देखकर उसका ढाई वर्षीय पुत्र शुभ भी मां के पीछे नदी तक पहुंच गया। महिला नदी के पानी में गेहूं धोकर जब कुछ देर बाद फुर्सत हुई तो उसने मासूम को वहां न पाकर खोजना शुरु किया। घर आकर बेटे को ढूंढ रही मां को देख परिवार के अन्य सदस्य भी उसे खोजने जुट गए। परिजनों द्वारा उसी स्थान के आसपास जब पानी में देखा गया तो मासूम पानी में ही डूबा था। ग्रामीण और परिजन उसे पानी से निकालकर तुरंत अस्पताल लेकर आए, लेकिन तब तक देर हो चुकी थी। अस्पताल ले जाने पर डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मर्ग कायम कर शव का पीएम कराते हुए परिजनों को सौंप दिया है।

सिलेंडर से घर में भडक़ी आग
अंतर्गत पुष्पराज कालोनी के एक घर में रात को आग लगने से हड़कम्प मच गया। इस घटना में  नगदी समेत हजारों का घरेलू सामान खाक हो गया। पुलिस के मुताबिक सहकार भवन के पीछे रहने वाले रवि चौबे की पत्नी सिमरन, गुरूवार रात करीब साढ़े 10 बजे रसोई में पोहा तल रही थी। इसी दौरान सिलेंडर में लीकेज से आग भडक़ गई। यह देखकर महिला घबरा गई और 3 बच्चों व सास को लेकर बाहर चली गई। कुछ देर में ही पूरा घर आग से घिर गया। यह देखकर मोहल्ले-पड़ोस के लोग मदद के लिए एकत्र हो गए, लेकिन सूचना देने पर भी दमकल वाहन आधे घंटे बाद आया। 
 

कमेंट करें
sIQpA