comScore
Dainik Bhaskar Hindi

ये मॉडल नहीं पॉवर लिफ्टर हैं, बाइसेप्स देख बॉक्सर के उड़ जाते हैं होश 

BhaskarHindi.com | Last Modified - September 06th, 2018 18:09 IST

8.6k
0
0

डिजिटल डेस्क । अगर आप किसी महिला वेट लिफ्टर को देखेंगे या उसके बारे में गूगल पर सर्च करेंगे तो आपको ऐसे फेसेज ही नजर आएंगे तो मर्दाना लगते हैं। उनकी कद काठी और चलने का तरीका आदमियों जैसा लगेगा। मसल्स का शरीर में दिखना उस फीमेल वेट लिफ्टर की पर्सनालिटी को फेमेनाइन नहीं रहने देता। दरअसल वेट लिफ्टिंग, पॉवर लिफ्टिंग या हार्ड जिमिंग ऐसी चीजें है जो खूबसूरत से खूबसूरत चेहरे को मर्दाना बना देती है, लेकिन एक पॉवर लिफ्टर ऐसी है जिसके चेहरे पर इन सबका कोई असर नहीं दिखाई देता। वो वेट लिफ्टिंग में वर्ल्ड चैम्पियन है, लेकिन जिसकी भी नजर उसके चेहरे पर पड़ती है वो बस उसे देखता ही रह जाता है। 

इस खूबसूरत पॉवर लिफ्टर का नाम जूलिया विंस है। जूलिया का जन्म 21 मई 1996, रशिया में हुआ था। महज 22 साल की जूलिया इतनी खूबसूरत है कि लोग उन्हें देख कर मॉडल समझ लेते हैं, लेकिन जब वो हाथ उठाकर अपने बाइसेप्स दिखातीं है तो लोग यकीन नहीं कर पाते है। ये मस्क्यूलर डॉल एक ही पंच में ना जाने कितने लोगों की शक्ल बिगाड़ सकती है। 

जूलिया के करोड़ों फॉलोअर्स इंस्टाग्राम पर हैं। वो दुनिया की सबसे ज्यादा वजन उठाने वाली लिफ्टर है। जूलिया का चेहरा बिल्कुल एक गुड़िया की तरह दिखता है। उनकी हाइट 5 फुट 5 इंच है, वजन 70 किलो है। जूलिया को मसल डॉल भी कहा जाता है। उन्होंने अबतक अपने पैरों पर 235 किलो वेट उठाया है, चेस्ट पे 140 किलो और डेडलिफ्ट 190 किलो तक उठाया है।

जूलिया का कहना है कि उसनें 15 साल की उम्र में जिम जाना चालू कर दिया था और रोज जिम में 2 घंटे पसीना बहाया करती हैं। वो खाने में अंडा, चिकन, टमाटर, ब्रॉकली, चावल, दलिया और पनीर खाती है। वो अपने स्ट्रेंथ को बढ़ाने के लिए कई तरह के सप्लिमेंट का सेवन करती हैं।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download