comScore
Dainik Bhaskar Hindi

एशिया से भी बड़ा था एटलांटिस, क्या सच में समंदर में गुम हो गया ये शहर?

BhaskarHindi.com | Last Modified - December 14th, 2017 07:38 IST

654
0
0

डिजिटल डेस्क, काेहिमा। टेथिस सागर से हिमालय पर्वत का निर्माण हुआ। समय के साथ पानी का स्तर बढ़ता गया और धरती के प्राचीन शहर समंदर में समा गए। ऐसे अनेक शहरों के प्रमाण समंदर की तलहटी में मिलते हैं। जिनके बारे में कहा जाता है कि कभी यहां जीवन हुआ करता था। लोग परिवार के साथ रहते थे। कई ऐसे भी नगर मिले हैं जो अत्यंत ही समृद्ध बताए गए हैं। इनकी बनावट और शैली उन खंडहरों और पत्थरों में अब भी नजर आती है जो पानी में सदियों से डूबी हुई हैं। 

अनेक कहानियां हैं फेमस

ऐतिहासिक सिटी एटलांटिस से जुड़ी  अनेक कहानियां फेमस हैं। अनेक साइंटिस्ट भी इस बारे में अपनी थ्योरी दे चुके हैं। उन्हें भी इसके होने का यकीन है। ऐसा भी कहा जाता है कि कभी ये शहर एशिया से भी बड़ा था, लेकिन संमदर ने इसे अपने आगोश में ले लिया। 

खोया हुआ शहर 

वैज्ञानिक और इतिहासकार इसके प्रमाण खोजने में अब भी लगे हुए हैं। ग्रीक सभ्यता का शहर एटलांटिस अपने आप में अनेक रोचक कहानियों को समेटे हुए हैं। इसे खोया हुआ शहर भी कहते हैं। ऐसे प्रमाण मिलते हैं कि अटलांटिक महासागर में एटलांटिस एक टापू पर मौजूद था। यह शहर कितना विकसित था इसका अनुमान इसी से लगाया जा सकता है कि इसका जिक्र प्लेटो की कहानियों में भी मिलता है। प्लेटों ने इसे सभ्य नगर सभ्यता का केंद्र बताया था। इसे यूरोप का भी केंद्र कहा जाता था। 

वैज्ञानिक कर रहे प्रयास

इस शहर को प्लेटो की कल्पना भी माना जाता है। हालांकि राइटर चार्ल्स बर्लिट्ज ने भी अपनी किताब द मिस्ट्री ऑफ एटलांटिस में इसका जिक्र किया है। इस विकसित शहर में कितनी सच्चाई है और कितनी कल्पना ये फिलहाल खोजों पर आधारित है। वैज्ञानिक इसके बारे में ज्यादा से ज्यादा प्रमाण एकत्रित करने का प्रयास कर रहे हैं।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ई-पेपर