comScore
Dainik Bhaskar Hindi

प्रदेश में प्याज की बाढ़, पहली बारिश में भीगा 5 हजार क्विंटल

BhaskarHindi.com | Last Modified - July 27th, 2017 16:19 IST

1.9k
0
0
प्रदेश में प्याज की बाढ़, पहली बारिश में भीगा 5 हजार क्विंटल

टीम डिजिटल, इंदौर.  गुरुवार को बारिश का कहर मंडी पर बरसा, लक्ष्मी बाई नगर मंडी में रखी 5 हजार क्विटंल प्याज पूरी तरह भीग गई. इसमें से आधे से अधिक प्याज खराब होना बताया जा रहा है. शुक्रवार की सुबह मंडी कर्मियों व किसानों ने प्याज को सूखने के लिए बाहर निकाला. 

दरअसल, प्रदेश में इतना प्याज़ हो गया है कि न प्याज रखने की पर्याप्त जगह है, न ही खरीदे गए माल की ढुलाई के पुख्ता इंतजाम. मध्य प्रदेश विपणन महासंघ ने मार्केटिंग सोसायटियों के जरिए इंदौर जिले में अब तक 3.26 लाख क्विंटल प्याज खरीदा गया है. इसमें से 2.25 लाख क्विंटल ही गोदामों तक भेजा जा सका है. अब भी 1 लाख क्विंटल से अधिक प्याज मंडियों के शेड में पड़ा है. प्याज रखने के गोदाम कम पड़ने लगे तो अब निजी वेयर हाउस किराए पर लिए जा रहे हैं. खरीदे गए प्याज को रखने के लिए शेड भी कम पड़ते जा रहे हैं.

प्याज़ इतना है कि कुछ अधिकारियों ने शेड से बाहर भी प्याज रखना शुरू कर दिया. इसी कारण जब गुरुवार को बारिश हुई तो पानी शेड से बाहर रखे प्याज तक पहुंच गया. शेड के अंदर प्याज रखा होता तो न ऊपर से भीगता, न नीचे से. प्याज ट्रांसपोर्टेशन का काम जिस एजेंसी को दिया गया है, उसके वाहन भी समय पर नहीं पहुंच रहे है.

इस दौरान नागरिक आपूर्ति निगम के जोनल मैनेजर आलोक सिंह, विपणन संघ के जोनल मैनेजर महेश त्रिवेदी, मंडी सचिव बीबीएस तोमर, वेयर हाउसिंग कार्पोरेशन के अधिकारियों को भी बुलाया गया. कमिश्नर ने निर्देश दिए कि अधिकतम माल को वेयर हाउस तक पहुंचाया जाए. ट्रांसपोर्ट एजेंसी के मैनेजर को बुलाकर कहा गया कि ट्रक बढ़ाए जाएं, ताकि अधिक से अधिक प्याज की ढुलाई हो सके. मंडी अधिकारियों से कहा कि हम्मालों के खाने के उचित इंतजाम किए जाएं. कैंटीन अधिक समय तक खुली रखी जाए.

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download