comScore

12 साल में 591 नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण

July 27th, 2017 15:52 IST
12 साल में 591 नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण

दैनिक भास्कर न्यूज डेस्क, गढ़चिरौली। महाराष्ट्र में सर्वाधिक नक्सल प्रभावित जिले के रूप में गढ़चिरौली अपनी पहचान बना चुका है। नक्सली गतिविधियों की रोकथाम और नक्सलियों को समाज की मुख्य धारा में जोड़ने के उद्देश्य से राज्य सरकार ने 29 अगस्त 2005 को नक्सली आत्मसमर्पण योजना की शुरुआत की। इसके बाद से लेकर अब तक इस योजना के तहत पूरे महाराष्ट्र राज्य में 591 नक्सलियों आत्मसमर्पण किया है, जिसमें से अकेले गढ़चिरौली के नक्सलियों की संख्या 572 हैं।

यह जानकारी पुलिस विभाग ने दी है। नक्सल दलम में रात-दिन पैदल चलने, समय पर भोजन न मिलना और बीमार पड़ने पर इलाज न मिलने सहित कारणों से तंग आकर अब तक जिले के 572 नक्सलियों ने सरकारी योजना के तहत आत्मसमर्पण किया है। आज वे एक खुशहाल जीवन बीता रहे हैं। योजना के कारण नक्सल आंदोलन को भी करारा झटका लगा है। नक्सल विरोधी अभियान के विशेष पुलिस महानिरीक्षक शरद शेलार ने नक्सलियों से इस योजना का लाभ उठाकर समाज की मुख्य धारा में शामिल होने का अनुरोध किया है। गौरतलब है कि महाराष्ट्र के अलावा देश के पांच ऐंसे राज्य भी हैं, जो नक्सल समस्या से जूझ रहे हैं। इन राज्यों में मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, बिहार, झारखंड और पं. बंगाल शामिल है।

कमेंट करें
goVNy