comScore

जब 'मुर्दा' हिलाने लगा सिर, श्मशान घाट छोड़कर भाग खड़े हुए लोग

जब 'मुर्दा' हिलाने लगा सिर, श्मशान घाट छोड़कर भाग खड़े हुए लोग

हाईलाइट

  • जिस व्यक्ति को लोग मुर्दा समझकर अंतिम संस्कार के लिए ले गए थे, वह अचानक अपना हिलाने लगा सिर

डिजिटल डेस्क, ब्रह्मपुर। श्मशान घाट के कई अजीबो-गरीब किस्से तो आपने सुने ही होंगे। ओडिशा के गंजाम जिले का एक ऐसा ही किस्सा सामने आया है। दरअसल, जिस व्यक्ति को लोग मुर्दा समझकर अंतिम संस्कार के लिए ले गए थे, वह अचानक अपना सिर हिलाने लगा। इससे कुछ लोग इतने डर गए कि, वहां से भाग खड़े हुए।

डॉक्टरों ने बताया कि, कपकहाला गांव में ग्रामीण सीमांचक मलिक को अंतिम संस्कार के लिए ले गए थे। लेकिन उनको सिर हिलाते देखने के बाद उन्हें सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया, जहां इलाज के बाद उनकी हालत स्थिर बताई गई है।    

पुलिस ने बताया कि, मलिक बकरियों और भेड़ों के साथ शनिवार को जंगल में गए थे लेकिन शाम में सारे मवेशी खुद घर लौट आए लेकिन वह नहीं लौटे। उन्होंने बताया कि शनिवार सुबह में कुछ लोगों ने मलिक को बेजान स्थिति में देखा और उसे घर ले आए। परिवार के सदस्यों और ग्रामीणों ने मलिक को मरा हुआ जान अंतिम संस्कर की तैयार कर ली।

जब मलिक को गांव में अंतिम संस्कार स्थल पर ले जाया गया तो अचानक उनका सिर हिलने लगा, जिससे लोग घबरा गए। कुछ मिनट बाद उनमें से कुछ तो वहां से भाग खड़े हुए। पलाकाटु पंचायत के पूर्व स्थानीय सरपंच रंजन मलिक ने बताया, ‘मलिक को जीवित देख हम उन्हें सोराडा अस्पताल ले गए। इलाज के बाद उनकी स्थिति अच्छी है।

मलिक का इलाज करने वाले एक डॉक्टर ने बताया कि बुखार की वजह से वह बेहोश हो गए थे और इलाज के बाद उनकी स्थिति अच्छी हो गई। डॉक्टर ने बताया कि मलिक को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। मलिक की पत्नी सोली अपने पति को जीवित देख बेहद खुश हैं। उन्हें इस बात का अफसोस है कि वह उन्हें मरा हुआ मानने से पहले अस्पताल क्यों नहीं ले गईं। उन्होंने कहा कि उनके पति बुखार के बाद भी जंगल गए थे।
 

कमेंट करें
eWSRl