comScore

AFC एशियन फुटबॉल कप : UAE के खिलाफ जीत के इरादे से उतरेगी टीम इंडिया

January 10th, 2019 14:28 IST
AFC एशियन फुटबॉल कप : UAE के खिलाफ जीत के इरादे से उतरेगी टीम इंडिया

हाईलाइट

  • टूर्नामेंट के इतिहास पहली बार लगातार दो मैच जीतना चाहेगा भारत
  • भारत ग्रुप अंक तालिका में 3 अंक के साथ टॉप पर मौजूद है

डिजिटल डेस्क, अबू धाबी। AFC एशियन कप में भारतीय फुटबॉल टीम का आज अपने ग्रुप का दूसरा मुकाबला मेजबान संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) से होगा। यह मुकाबला यूएई के जायेद स्पोर्ट्स सिटी में खेला जाएगा। भारतीय टीम ने अपने पहले मुकाबले में थाईलैंड को 4-1 से हराया था। इस जीत के साथ भारत ग्रुप अंक तालिका में 3 अंक के साथ टॉप पर मौजूद है। ग्रुप स्तर पर भारतीय टीम का गोल अंतर भी दूसरी टीम से बेहतर है जो आगे महत्वपूर्ण साबित होगा। क्योंकि यूएई ने अपने पहले मैच में बहरीन के साथ 1-1 से ड्रॉ खेला था। अब भारतीय टीम की नजर यूएई को हराने पर होगी। 

इस टूर्नामेंट में भारत 1964 से भाग ले रहा है। अभी तक इस टूर्नामेंट में यूएई से उसका चार बार आमना-सामना हुआ है। जिसमें भारत एक बार भी जीत हासिल नहीं कर पाया है। ऐसे में भारतीय टीम की नजर यूएई के खिलाफ अपनी पहली जीत दर्ज करने पर होगी। अगर भारतीय टीम यूएई से मैच जीत जाती है तो इस टूर्नामेंट के इतिहास भारत पहली बार लगातार दो मैच जीतेगा। इससे पहले भारत इस टूर्नामेंट में कभी भी लगातार दो मैच नहीं जीता है। 

भारतीय टीम के कोच स्टीफन कांस्टेनटाइन इस बात को लेकर बेहद खुश होंगे कि उनके खिलाड़ियों ने थाईलैंड के खिलाफ मैच के दूसरे हाफ में बेहतरीन खेल का प्रदर्शन किया था। मैच का पहला हाफ 1-1 की बराबरी पर समाप्त हुआ था। पहला हाफ समाप्त होने के बाद भारत ने न सिर्फ मजबूत थाई डिफेंस को तोड़ने में सफलता हासिल की बल्कि उसने कई बेहतरीन गोल करते हुए इस मैच को अपने लिए यादगार बना दिया। भारत ने अपने फारवर्ड खिलाड़ियों के शानदार प्रदर्शन की बदौलत थाईलैंड के खिलाफ जीत हासिल की। मैच में सुनील छेत्री ने दो गोल और जेजे लालपेखलुवा ने एक गोल किया। इनके अलावा मिडफील्डर अनिरुद्ध थापा भी अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपना पहला गोल करने में सफल रहे थे।

इस मैच में आशिक कुरुनियन कोई गोल नहीं कर सके लेकिन उन्होंने अपने शानदार खेल से सबका ध्यान अपनी तरफ खींचा। छेत्री और एफसी पुणे सिटी के विंगर कुरुनियन ने थाईलैंड की रक्षापंक्ति को हमेशा व्यस्त रखा। भारतीय टीम को कुरुनियन से यूएई के खिलाफ भी इसी तरह के चमकदार प्रदर्शन की उम्मीद रहेगी। यूएई फीफा रैंकिंग में 79वें स्थान पर मौजूद है और भारत से काफी बेहतर स्थिति में है। ग्रुप-ए में वह सबसे ऊंची रैंकिंग वाला टीम है और यह भारत के लिए एक चिंता की बात है। एक मजबूत टीम के खिलाफ मिडफील्ड में थापा और प्रणॉय हल्धर को अच्छा खेल दिखाना होगा।

भारत को पीछे की पंक्ति में भी काफी सावधान रहना होगा क्योंकि 2015 में एशियन प्लेअर ऑफ द इअर चुने गए अहमद खलील और अली मबखाउत जैसे खिलाड़ी उसके लिए मुश्किलें पैदा कर सकते हैं। ये खिलाड़ी गोल करने में माहिर हैं। मबखाउत को यूएई के लिए सबसे अधिक गोल करने वाला खिलाड़ी बनने के लिए सात गोलों की जरूरत है। ऐसे में संदेश झिंगन और अनस इडाथोडिका को बैकलाइन में काफी सतर्क रहना होगा।

यूएई घरेलू दर्शकों के सामने पहले मैच में पूरे तीन अंक हासिल न कर पाने के कारण घायल दिख रही है और उनके कोच अल्बटरे जाचेरोनी ने भी माना कि भारत के खिलाफ वे बदली हुई मानसिकता के साथ उतरेगी। यूएई की टीम को चोटिल ओमर अब्दुलरहमान की कमी खलेगी। ओमर को एशिया के सबसे अच्छे खिलाड़ियों में से एक माना जाता है लेकिन जाचेरोनी की टीम को पास ओमर के बगैर भी काफी शक्ति और काबिलियत है और इस कारण गोलपोस्ट के सामने गुरप्रीत सिंह संधू को काफी सावधान रहने की जरूरत होगी।

भारतीय टीम : 

गोलकीपर : गुरप्रीत सिंह संधू, अमरिंदर सिंह, विशाल कैथ

डिफेंडर : प्रीतम कोटाल, संदेश झिंगन, अनस एदाथोडिका, सलाम रंजन सिंह, सार्थक गोलुई, सुभाशीष बोस और नारायण दास

मिडफील्डर : उदांता सिंह, जैकीचंद सिंह, प्रणॉय हल्दर, अनिरुद्ध थापा, विनीत राय, रॉलिगं बोर्गेस, जर्मनप्रीत सिंह, अशिक कुरुनियान, हालीचरण नारजारे

फारवर्ड : सुनील छेत्री, जेजे लालपेखलुआ, बलवंत सिंह, सुमित पस्सी

कमेंट करें
8hwKL