comScore
Dainik Bhaskar Hindi

महाराष्ट्र : VVPAT आने के बाद ही होगा वोटिंग मशीनों का मॉक पोल

BhaskarHindi.com | Last Modified - September 15th, 2018 00:35 IST

1.4k
0
0
महाराष्ट्र : VVPAT आने के बाद ही होगा वोटिंग मशीनों का मॉक पोल

डिजिटल डेस्क, नागपुर। बेंगलुरु से नागपुर पहुंची बैलेट यूनिट व कंट्रोल यूनिट की जांच का काम कलमना में जारी है। अभी तक VVPAT नहीं पहुंची। VVPAT पहुंचने के बाद ही वोटिंग मशीनों का मॉक पोल हो सकेगा। फिलहाल मशीनों की जो जांच हो रही है, वह एक सामान्य प्रक्रिया है आैर इसका वोट किसे दिया आैर किसे जा रहा, इससे कोई संबंध नहीं है। EVM मशीने काम कर सकती है या नहीं केवल इसी की जांच कंपनी के लोग कर रहे है। बेंगुलुरु से नागपुर पहुंचे  9436 बैलेट यूनिट व 5486 कंट्रोल यूनिट की जांच का काम कलमना मार्केट के एक गोदाम में जारी है। जिला प्रशासन की निगरानी में बेल कंपनी के इंजीनियर मशीने चल सकती है या नहीं इसकी जांच कर रहे है।

कंपनी के लोग मशीन की बटने, तारीख व समय, सीरियल नंबर, मशीन नंबर, स्क्रीन के साथ ही मशीनें चल रही है या नहीं इस बात की जांच कर रहे है। मशीने सामान्य प्रक्रिया में चल रही है या नहीं यह देख रहे है। जो मशीने बेरोकटोक चल रही है, उसे सही मानते हुए उस पर हरी चिट लगा रहे है। इसीतरह जिन मशीनों की बटने नहीं चल रही या मशीन आपरेट करने में परेशानी हो रही, समय व तारीख या मशीन नंबर स्क्रीन पर नहीं दिख रही ऐसी मशीनों को रिजेक्ट करके उस पर लाल चिट लगाई जा रही है। इसके साथ ही कंट्रोल यूनिट को सामने से जो स्क्रू लगे उस पर टेंपर स्टिकर लगाए जा रहे है, ताकि इसके बाद कोई भी दोबारा स्क्रू को हाथ नहीं लगा सके। 

अभी चल रहा हैं बैलेट यूनिट व कंट्रोल यूनिट जांच का काम
VVPAT अभी नहीं आने से EVM पर फिलहाल आपत्ती लेने का कोई आैचित्य नहीं है। EVM पर यहीं आरोप लगते रहे है कि बटन किसी आैर का दबाया आैर वोट किसी आैर को जाता है। इसके लिए जिला प्रशासन आपत्ती दर्ज करने का मौका देगा। फिलहाल यह मॉक पोल नहीं होने से ऐसी आपत्तियों को दर्ज करने का या प्रशासन द्वारा सुनने का सवाल ही नहीं है। यहां जो पहुंच रहा है, वह यहां जारी सामान्य प्रक्रिया को अधिकारी की अनुमति से देख सकता है। चूंकि पार्टी के सिंबाल, उम्मीदवारों की संख्या (डमी) या वाेटरों की संख्या ऐसी कोई व्यवस्था मशीन में दर्ज नहीं करने से मॉक पोल (वोट का प्रात्यक्षित) नहीं हो रहा है। VVPAT आने के बाद जरूर यह होगा। अभी जो प्रक्रिया हो रही है, वह फर्स्ट लेवल चेकिंग है। VVPAT आने के बाद सेकंड लेवल चेकिंग होगी आैर उस वक्त राजनीतिक पार्टियों के प्रतिनिधियों के आपत्तियों का निराकरण किया जाएगा। उस वक्त मशीन पर मॉक पोल किया जाएगा। 

इन्होंने देखी एफएलसी की प्रक्रिया
भारत इलेक्ट्रिकल लिमिटेड (बेल) के कर्मचारी मशीनों की जो फर्स्ट लेवल चेकिंग (एफएलसी) कर रहे है, उसे अब तक आप के मंसूर शेख, राकांपा के बंडोपंत टेंभुर्णे, राकांपा के मालिनी खोब्रागडे, कांग्रेस के युवराज लाडे, भाजपा के प्रसाद मजुमदार, बसपा के प्रकाश खोब्रागडे ने देखा। इन्होंने केवल प्रक्रिया को देखा। आपत्ती उठाने, सुझाव देने या वोट किसे दिया आैर किसे गया इस पर कोई बात नहीं हुई। 

तेलंगाना ने रोके VVPAT
तेलंगाना में विधानसभा चुनाव साल के अंत तक हो सकते है। बेंगलुरु से नागपुर में VVPAT आने थे। चर्चा है कि VVPAT पहले तेलंगाना पहुंचेंगे। वहां विधान सभा चुनाव होने के बाद VVPAT नागपुर पहुंच सकते है। 

VVPAT आने व मॉक पोल का कार्यक्रम अभी तय नहीं
तहसीलदार शेखर पुनसे के मुताबिक VVPAT कब आएंगे, इससंबंध में फिलहाल कोई जानकारी नहीं है। चुनाव आयोग के आदेश पर जिला प्रशासन से निर्देश मिलने के बाद VVPAT लाए जाएंगे। बैलेट यूनिट व कंट्रोल यूनिट की फर्स्ट लेवल चेकिंग हो रही है। आपत्ती लेने या वोट किसे जा रहे इसका इससे कोई संबंध नहीं है। VVPAT आने के बाद ही मॉक पोल होगा आैर उस वक्त आपत्तियों का निराकरण किया जाएगा। मॉक पोल का कार्यक्रम अभी तय नहीं हुआ है। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर