comScore
Dainik Bhaskar Hindi

CBIvsCBI: अटॉर्नी जनरल ने SC में कहा- बिल्लियों की तरह लड़ रहे थे वर्मा और अस्थाना

BhaskarHindi.com | Last Modified - December 06th, 2018 09:23 IST

1.9k
0
0
CBIvsCBI: अटॉर्नी जनरल ने SC में कहा- बिल्लियों की तरह लड़ रहे थे वर्मा और अस्थाना

News Highlights

  • CBI के दो टॉप ऑफिसर आलोक वर्मा और राकेश अस्थाना के बीच छिड़ी जंग अब तक थमी नहीं है।
  • बुधवार को CBI डायरेक्टर आलोक वर्मा की ओर से सुप्रीम कोर्ट में दाखिल याचिका पर सुनवाई हुई।
  • अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने इस दौरान सुप्रीम कोर्ट में कहा कि दोनों अफसर बिल्लियों की तरह लड़ाई कर रहे थे।


डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (CBI) के दो टॉप ऑफिसर आलोक वर्मा और राकेश अस्थाना के बीच छिड़ी जंग अब तक थमी नहीं है। इस बीच बुधवार को CBI डायरेक्टर आलोक वर्मा की ओर से सुप्रीम कोर्ट में दाखिल याचिका पर सुनवाई हुई। केंद्र सरकार की ओर से अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने इस दौरान सुप्रीम कोर्ट में कहा कि दोनों अफसर बिल्लियों की तरह लड़ाई कर रहे थे। इनके झगड़े की वजह से देश की प्रतिष्ठित जांच एजेंसी की स्थिति बेहद हास्यास्पद हो गई थी। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस संजय किशन कौल और जस्टिस केएम जोसेफ की बेंच ने इस मामले की सुनवाई की।

केके वेणुगोपाल ने सुप्रीम कोर्ट में कहा, दोनों अधिकारी सार्वजनिक रूप से लड़ रहे थे। इसे लेकर सरकार बहुत चिंतित थी। सरकार और सीवीसी को यह फैसला करना था कि कौन सही है और कौन गलत। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने अटॉर्नी जनरल से पूछा कि क्या आपके पास कोई सबूत है जो ये साबित कर सके की CBI ऑफिसर सार्वजनिक रूप से लड़ रहे थे? इस पर वेणुगोपाल ने कोर्ट के सामने न्यूज पेपर की कटिंग प्रस्तुत की। वेणुगोपाल ने कोर्ट से कहा, CBI डायरेक्टर के कामकाज से जुड़ी जिम्मेदारियां वापस ली गई हैं। ये कार्रवाई तबादला नहीं है। वेणुगोपाल ने कहा, 'CBI में जनता का विश्वास बनाए रखने के लिए सरकार की तरफ से कार्रवाई बेहद जरूरी थी। स्थिति ऐसी आ गई थी कि केंद्र सरकार को दखल देना पड़ा। मामले की सावधानीपूर्वक जांच करने के बाद केंद्र ने फैसला लिया कि सीबीआई डायरेक्टर को छुट्टी पर भेज दिया जाए।'  

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें