comScore

DHFL पर लगा 31 हजार करोड़ के घोटाले का आरोप

January 30th, 2019 18:40 IST

हाईलाइट

  • DHFL कंपनी पर लगा 31 हजार करोड़ के घोटाले का आरोप।
  • कर्ज लेकर रुपयों की हेराफेरी का है आरोप।
  • कंपनी ने किया सभी आरोपों से इंकार।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारत की बड़ी बैंकिंग कंपनी दीवान हाउसिंग फायनेंस कॉर्पोरेशन (DHFL) विवादों में फंसती नजर आ रही है। एक न्यूज पोर्टल ने कंपनी पर 31 हजार करोड़ के घोटाले का आरोप लगाया है। पोर्टल के अनुसार कंपनी के मालिक वाधवान फैमिली ने दूसरी कंपनीयों से पास थ्रू एंटिटीज द्वारा कर्ज लिया और विदेशों में निवेश किया। इसके साथ ही पोर्टल के संपादक ने अनिरुद्ध बहल ने कहा कि हमने उन सभी कंपनीयों की पहचान कर ली है, जिनसे DHFL ने लोन लिया है।  हालांकि DHFL ने सभी आरोपों को नकार दिया है। कंपनी के अनुसार सारे वित्तीय लेनदेन कानूनन सही हैं। पोर्टल के आरोप लगाए जाने के बाद से DHFL के शेयर्स में 9.73% की गिरावट दर्ज हुई है।

जांच पोर्टल ने DHFL पर रुपयों की हेराफेरी कर विदेशों में निवेश करने और श्रीलंका में क्रिकेट टीम खरीदने के आरोप लगाए हैं। पोर्टल के अनुसार कंपनी ने शेल कंपनीयों को सिक्योर्ड और अनसिक्योर्ड लोन देकर इस घोटाले को अंजाम दिया है। इसके साथ ही पोर्टल ने बताया कि कंपनी ने जिस भी प्रमोटर कंपनी को लोन दिया है, उनकी कमाई नहीं है। पोर्टल ने दावा किया है कि सारे तथ्य पब्लिक डोमेन में उपलब्ध जानकारी और सरकारी एजेंसियों के रिकार्ड्स से सारी जानकारी हासिल की है।

कंपनी ने बताया आरोपों को निराधार
DHFL के चेयरमैन कपिल वाधवान ने सभी आरोपों को बेकार बताया है। वाधवान के अनुसार सारे वित्तीय लेनदेन कानूनी तौर पर सही है, इनमें किसी भी प्रकार से कोई भी गड़बड़ी नहीं हुई है। वाधवान ने बताया कि किसी भी शेल कंपनी को लोन नहीं दिए गए हैं। घोटाले का आरोप लगाने वाले पोर्टल ने कहा था कि DHFL ने SBI से 11 हजार करोड़ और बैंक ऑफ बड़ौदा से 4 हजार करोड़ का कर्ज लिया है। इसके अलावा अन्य वित्तीय संस्थाओं से 90 हजार करोड़ का कर्ज लिया हुआ है। DHFL चेयरमैन ने इन सारे आरोपों को नकारते हुए कहा कि कंपनी का एसेट कवर बताई गई राशि से दोगुना है।

कमेंट करें
H2tuj