comScore

वन परिक्षेत्र अधिकारी ने गायब करा दिया राजसात वाहन, सागौन तस्करी के दौरान हुआ था जब्त, लगे आरोप

वन परिक्षेत्र अधिकारी ने गायब करा दिया राजसात वाहन, सागौन तस्करी के दौरान हुआ था जब्त, लगे आरोप

डिजिटल डेस्क, बालाघाट। वन परिक्षेत्र अधिकारी पर राजसात वाहन गायब कराने का सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। अधिकारी पर आरोप हैं कि उसने वाहन मालिक से मोटी रकम लेकर नियम विरूद्ध ढंग से वाहन उसे वापस दे दिया। बतया जाता है कि वाहन मालिक वाहन को बुकिंग पर भी चलाता रहा। इसका खुलासा होने के बाद पूरे महकमे में हड़कंप की स्थिति निर्मित है। वाहन को सागौन तस्करी के दौरान जब्त किया गया था। अधिकारी अब पूरे मामले की जांच कराने की बात कह रहे हैं।

डेढ़ माह से लापता है वाहन-
उल्लेखनीय है कि उत्तर समान्य वनमंडल बालाघाट के अंतर्गत बिरसा दमोह वन परिक्षेत्र में वाहन चोरी का सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। विदित हो कि बिरसा दमोह वन परिक्षेत्र के अमले द्वारा गश्ती के दौरान सालेटेकरी व मछुरदा के बीच बेशकीमती सागौन काष्ठ से भरे हुए बोलेरो वाहन क्रमांक एमपी 50 बीसी 1004 व पिकअप वाहन क्रमांक सीजी 10 सी 2158 समेत चार सागौन तस्करों को गिरफ्तार किया गया था। 

पीओआर क्रमांक 2539/42 दिनांक 11/03/2019 के तहत प्रकरण दर्ज कर सागौन तस्करी में लिप्त उक्त वाहन को जब्त कर वन अमले द्वारा परिक्षेत्र कार्यालय परिसर अपनी अभिरक्षा में रखा गया था। किन्तु वह वाहन लगभग डेढ़ माह से लापता है। वाहन कब किसके द्वारा कैसे गायब किया गया यह खुलासा तो उच्चस्तरीय जांच के बाद ही होगा।

मोटी रकम लेकर वाहन मालिक को दिया वाहन-
विश्वस्त सूत्रों की मानें तो जब्ती के कुछ ही दिनों बाद से ही यह वाहन वन परिक्षेत्र अधिका री द्वारा वाहन मालिक से मोटी रकम लेकर नियम विरुद्ध तरीके से वाहन उसे वापस दे दिया गया और अन्यत्र ले जाकर किराये से बुकिंग पर चलाया जा रहा था, परंतु इसी दौरान वाहन का एक्सीडेंट हो जाने के चलते वाहन को सुधार कार्य हेतु गुपचुप तरीके से रायपुर भिजवाया गया है। वाहन नदारद होने के लगभग दो माह बीत जाने के बाद भी कोई एफआईआर ना कोई शिकायत होना बताता है कि वाहन गायब होने के लिए सीधे तौर पर वन परिक्षेत्र अधिकारी बिरसा दमोह जिम्मेदार हैं।

Loading...
कमेंट करें
0Q6gI
Loading...
loading...