comScore
Dainik Bhaskar Hindi

अमेजॉन के सीईओ ने फिर रचा इतिहास, बिल गेट्स को पछाड़ कर बने सबसे अमीर शख्स 

BhaskarHindi.com | Last Modified - January 12th, 2018 13:24 IST

11.3k
0
1
अमेजॉन के सीईओ ने फिर रचा इतिहास, बिल गेट्स को पछाड़ कर बने सबसे अमीर शख्स 

डिजिटल डेस्क, न्यूयॉर्क । दुनिया के सबसे अमीर शख्स माइक्रोसॉफ्ट के को-फाउंडर बिल गेट्स को रईसी के मामले बार-बार पछाड़ने वाले अमेजॉन के सीईओ जेफ बेजोस एक बार फिर अपनी परंपरा को कायम रखते हुए दुनिया के नंबर 1 दौतलमंद बन गए। इससे पहले भी कई बार ऐसा हुआ है कि बिल को पीछे छोड़ते हुए 53 साल के बेजोस दुनिया के सबसे रईस शख्स बने हैं।   

सोमवार को एक बार फिर बेजोस ने संपत्ति के मामले में बिल को पिछा छोड़ दिया। इस वक्त बेजोस दुनिया के सबसे अमीर शख्स हैं। उनकी दौलत इस वक्त इतनी हो गई है जितनी किसी की कभी नहीं रही। ब्लूमबर्ग के जरिए जारी अरबपतियों की लिस्ट में बताया गया कि जेफ बेजोस इस वक्त 105.1 बिलियन डॉलर से भी ज्यादा के मालिक बन गए हैं। बेजोस ने माइक्रोसॉफ्ट के फाउंडर बिल गेट्स का रेकॉर्ड भी तोड़ दिया। 

बेजोस पहले कब बने थे सबसे अमीर

ऐमजॉन के सीईओ ने पिछले अक्टूबर में ही 93.8 बिलियन डॉलर के साथ गेट्स को पछाड़ दिया था, फिर अगले ही महीने उन्होंने पहली बार 100 बिलियन डॉलर का आंकड़ा छुआ था। उस वक्त ऐमजॉन पर ब्लैक फ्राइडे सेल चल रही थी। जिस पर लोगों ने खूब शॉपिंग की थी। 

ये भी पढ़े: बिल गेट्स ने GST को बताया भारत के लिए सकारात्मक कदम

ब्लूमबर्ग की लिस्ट के मुताबिक, 8 जनवरी को बेजॉस की कुल धन-दौलत 105.1 बिलियन डॉलर की थी। ऐमजॉन के सीईओ के पास ऐमजॉन के 78.9 मिलियन शेयर्स हैं। ऐमजॉन के शेयर में पिछले 9 दिनों में सात प्रतिशत की तेजी आई है। वहीं साल 2017 में शेयर्स में कुल 56 प्रतिशत का उछाल आया था।  ब्लूमबर्ग ने कहा कि बुधवार तक बेजोस की संपत्ति 106 अरब डॉलर पर पहुंच गई है जबकि फोर्ब्स ने इसे 105 अरब डॉलर बताया है। इससे पहले यह रिकॉर्ड माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स के नाम था। 1999 में उनकी कुल संपत्ति 100 अरब डॉलर थी।

हालांकि दान के मामले में सबसे आगे हैं बिल गेट्स 

62 साल के गेट्स ने अगर बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन को अपनी दौलत का बड़ा हिस्सा दान न किया होता तो इस वक्त उनके पास 150 बिलियन डॉलर से ज्यादा की धन-दौलत होती। गेट्स ने तकरीबन 700 मिलियन डॉलर की कीमत के माइक्रोसॉफ्ट के शेयर, 2.9 बिलियन डॉलर कैश और कुछ जायदाद भी 1996 में फाउंडेशन को दे दी थी। इस बात की जानकारी भी गेट्स ने खुद ही सबको दी थी। 1999 में हुए डॉट.कॉम बूम के वक्त बिल गेट्स ने 100 बिलियन डॉलर का आंकड़ा पार किया था। 

कौन हैं बेजोस?

जेफ बेजोस की जिंदगी काफी संघर्ष भरी रही है। बचपन से ही वो काफी एक्टिव रहे हैं। बचपन में वो घर की चीजों को खोलकर फिर फिट कर दिया करते थे। अपनी मेहनत की बदौलत आज वो दुनिया के सबसे अमीर आदमी बन गए हैं। 

बचपन में नाना के साथ रहे

एक वक्त ऐसा था जब उनके पास पैसों की तंगी थी। बचपन भी काफी संघर्षों के साथ बीता। उनके माता-पिता की शादी होने के एक साल बाद ही दोनों ने तलाक लेने का फैसला कर दिया। तलाक का कारण उनके पिता की शराब पीने की आदत थी। जब वो चार साल के थे तो उनकी मां ने दूसरी शादी मिगुअल माइक कर ली। मिगुअल ने उनको कानूनी रूप से उन्हें गोद ले लिया। उनका बचपन नाना के साथ बीता। उनके नाना ने ही उनको कंप्यूटर चलाना सिखाया।

काफी स्टूडियस थे बेजोस

बचपन से ही जेफ काफी पढ़ाकू थे। वो हमेशा ही पढ़ाई करते रहते थे. जिसको देख उनके माता-पिता काफी चिंतित रहते थे। उनको लगता था कि उनका बच्चा सिर्फ पढ़ाई में ही न रह जाए। इसलिए उन्होंने जेफ को फुटबॉल खेलने के लिए प्रेरित किया। सबसे पहले जेफ ने प्रिस्टन यूनिवर्सिटी से फिजिक्स में पढ़ाई की जिसके बाद उन्होंने बीच में डिग्री छोड़ कम्प्यूटर साइंस और इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई करना शुरू कर दिया। 

खुद का काम गैराज में शुरू किया

जेफ को हमेशा ही कुछ अलग करने का मन था। पढ़ाई के बाद उन्होंने कई जगह जॉब की, लेकिन उनका मन नहीं लगा। सबसे पहले उन्होंने अपना खुद का काम गैराज में शुरू किया। बिजनेस चल पड़ा तो उन्होंने कंपनी को नाम देना का सोचा। सबसे पहले उन्होंने कडाब्रा और फिर रेलेंटसेस डॉट कॉम जैसे नाम सोचे लेकिन उन्हें खारिज कर दिया गया।
इसके बाद उन्होंने साउथ अमेरिकी नदी अमेजन से प्रेरित होकर उन्होंने कंपनी का नाम अमेजन रखा जिस पर मुहर लग गई। 2007 में कंपनी को बड़ी उप्लब्धि हासिल की। ऑनलाइन बिजनेस में उनकी कंपनी ब्रांड बन चुकी थी। उसके बाद जेफ ने पीछे मुड़कर नहीं देखा और कंपनी को आगे बढ़ाते चले गए और आज उनकी कंपनी का नाम पूरी दुनिया में फेमस है।
 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर