comScore

भोपाल में मानवता शर्मसार: शव ले जाने को एम्बुलेंस नहीं, ठेले पर ले गई पुलिस

January 17th, 2018 09:50 IST

source: Youtube

डिजिटल डेस्क, भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी की तहसील बैरसिया में एक बेहद संवेदनहीन मामला सामने आया है। यहां एक शव को पोस्ट मार्टम के लिए 1 किलोमीटर दूर स्थित अस्पताल में ले जाने के लिए पुलिसकर्मी हाथ के ठेले का इस्तेमाल करते नजर आए। जबकि यहां सरकारी एम्बुलेंस खड़ी नजर आ रही थी। बता दें कि यह राज्य में पहला मौका नहीं है जब ऐसा मामला सामने आया हो। इससे पहले बैतूल के मुलताई में रेलवे स्टेशन के पास रेल से कटे युवक को रेलवे पुलिस के सिपाही द्वारा चार पहिए के ठेले पर रखकर शव को पीएम हाउस ले जाने का मामला सामने आया था।





जानकारी के अनुसार मंगलवार की सुबह बैरसिया के ईदगाह के पास मैदान में पर्वत नामक व्यक्ति की लाश मिली। जब इसकी सूचना अस्पताल प्रशासन को देने के बाद भी कोई मद्द नहीं मिली। स्थानीय लोगों ने पुलिस को शव की सूचना दी। पुलिस द्वारा अस्पताल से एम्बुलेंस बुलाई गई लेकिन जब अस्पताल से कोई वाहन नहीं मिला तो पुलिसकर्मी हाथ के ठेले पर शव को लेकर अस्पताल तक गई। इस घटना ने सरकार के उन बड़े-बड़े दावों की पोल खोल दी है जो राज्य सरकार द्वारा विकास के नाम पर किए गए हैं। 



नगरपालिका में नही है कोई शव वाहन

बता दें कि बैरसिया नगरपालिका में भी कोई शव वाहन उपलब्ध नहीं है। अस्पताल में बार-बार सूचना पहुंचाने के बाद भी कोई मद्द न मिलने के बाद नगरपालिका में भी शव वाहन के लिए फोन किया गया लेकिन वहां से जवाब मिला कि यहां कोई शव वाहन उपलब्ध है ही नहीं।
 

                                                 पत्नी के शव को कंधे पर रखकर ले जाते दाना माझी


ओडिशा में 10 किमी दूर पत्नी के शव को कंधे पर रखकर ले गया पति

 शव को वाहन न मिलने का मामला कुछ समय पूर्व ओडिशाके कालाहांडी से सामने आया था। यहां के रहने वाले दाना माझी की 42 वर्षीय पत्नी की मौत हो जाने के बाद अस्पताल से उन्हें कोई मद्द नहीं दी गई थी। जिसके बाद वे शव को कंधे पर लाध कर घर ले गए थे। बता दें कि दाना माझी 10 किमी दूर अपने गांव शव को कंधे पर लाध कर ले गए थे। 

Loading...
कमेंट करें
kGm6O
Loading...