comScore
Dainik Bhaskar Hindi

VIDEO में करें LIVE दर्शन, 83 सालों से सज रहा है 'लालबाग के राजा' का दरबार

BhaskarHindi.com | Last Modified - August 30th, 2017 10:00 IST

5k
0
0
VIDEO में करें LIVE दर्शन, 83 सालों से सज रहा है 'लालबाग के राजा' का दरबार

डिजिटल डेस्क, मुंबई। गणेश उत्सव के अवसर पर लालबाग के राजा के दर्शन के लिए भक्तों की लंबी कतारें लगती हैं। ''लालबाग के राजा'' को नवसाचा गणपति भी कहा जाता है। लालबागचा राजा सावर्जनिक गणेश मंडल 1934 से गणेश प्रतिमा स्थापित कर रहा है। हालांकि इन दिनों भारी बारिश की वजह से इन दिनों इनके दर्शनों पर रोक लगा दी गई है। आज हम यहां आपको लालबाग के राजा से जुड़ी कुछ रोचक बातें यहां बताने जा रहे हैं... 

83 सालों से लालबाग के राजा का दरबार यूं ही सज रहा है। वक्त के साथ सजावट जरूर बदली है, लेकिन आस्था का वही रूप आज भी कायम है। जो  स्थापना के समय था।

खुले आसमान के नीचे 

1934 में मुंबई के दादर और परेल से सटा लालबाग इलाका तब कारखानों से पटा पड़ा था। इस इलाके में मिल मजदूरए छोटे-मोटे दुकानदार और मछुआरे रहते थे। 1932 में यहां के पेरू चॉल बंद हो जाने से मछुआरों और दुकानदारों की कमाई का जरिया बंद हो गयाए वो खुले आसमान के नीचे सामना बेचने मजबूर हो गए। वे दिन इनके लिए बेहद कष्टकारी साबित हुए।

शुरू की गणपति पूजा 

तब कुछ लोगों ने मिलकर अपनी मन्नतों को पूरा करने के लिए गणपति की पूजा शुरू की। धीरे-धीरे इस पूजा में आसपास के लोग भी शामिल होने लगे और लालबाग में बाजार खड़ा करने के लिए चंदा भी देने लगे। दो साल बीतते-बीतते मछुआरों और दुकानदारों की मन्नत पूरी हो गई, उन्हें बाजार खड़ा करने के लिए जमीन मिल गई। इसके बाद इन लोगों की आस्था बप्पा में बढ़ गई, जिसे प्रकट करने के लिए 12 सितंबर 1934 को यहां इस प्रतिमा की स्थापना की।

लगने लगी हाजिरी 

अभी कुछ ही वक्त बीता था कि गणपति की इस महिमा की चर्चा दूर-दूर तक फैल गई, और लगभग पूरा मुंबई राजा के दरबार में हाजिरी लगाने पहुंचने लगा। अब लालबाग के राजा को मराठी नाम भी मिल गया ''लालबाग चा राजा'', और हर साल यहां गणेश प्रतिमा स्थापित होने लगी। 

एक ही मूर्तिकार का परिवार 

इस मूर्ति की एक खास बात ये है कि इसे बीते 8 दशकों से एक ही मूर्तिकार कांबली परिवार ही बना रहा है। करीब 20 फीट ऊंची गणपति की मूर्ति बनाने का ये हुनर एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी तक पहुंच रहा है। आज लालबाग के राजा की भव्यता किसी से छिपी नहीं है। अमिताभ बच्चन से लेकर सचिन तेंदुलकर तक हर कोई इनके चरणों में माथा टेकने पहुंचता है। मुंबई वासियों का मानना है कि जब तक बाप्पा (बप्पा) का आशीर्वाद है, तब तक किसी भी मुश्किल का कोई डर नहीं, फिर चाहे वह भारी बारिश हो या तूफान। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर