comScore

नागपुर स्टेशन पर लावारिस बैग मिलने से मचा हड़कंप, पड़ताल में जुटा डॉग स्कॉड

January 11th, 2019 23:08 IST
नागपुर स्टेशन पर लावारिस बैग मिलने से मचा हड़कंप, पड़ताल में जुटा डॉग स्कॉड

डिजिटल डेस्क, नागपुर। रेलवे स्टेशन पर उस वक्त हड़कंप मचा। जब एक लावारिस बैग प्लेटफार्म पर मिला। तुरंत बीडीडीएस और डॉग स्कॉड को बुलाया गया। बैग की जांच-पड़ताल करने पर उसमें किसी तरह संवेदनशील चीज नहीं मिलने से सबने राहत महसूस की। बैग खोलने पर उसमें कुछ पैसे व कपड़े मिले। जल्दबाजी में एक यात्री बैग भूलकर गया था।

शुक्रवार शाम 6.30 बजे प्लेटफार्म नंबर 4 पर ट्रेन नंबर 12114 नागपुर-पुणे गरीबरथ लगी थी। जिसमें चढ़ने यात्रियों की भीड़ लगी थी। लेकिन बी-2 कोच के सामने काफी समय से एक बैग लावारिस अवस्था में पड़ा था। गाड़ी छूटने के बाद भी बैग वहीं  पड़ा था। कुछ ही दिनों में 26 जनवरी रहने से लावारिस बैग लंबे समय से स्टेशन परिसर में रहना सुरक्षा व्यवस्था के लिए चिंता का कारण बन गया था। जानकारी बीडीडीएस व डॉक स्कॉड को दी गई। टायगर नामक श्वान ने बैग को सूंघकर किसी तरह का इशारा नहीं किया। तब सभी ने राहत महसूस की।

इसके बाद बैग को थाने लाकर कानूनी प्रक्रियां के बाद खोला गया। जिसमें यात्री का नंबर मिला। फोन करने पर बैग सुनीता देवाडे निवासी औरंगाबाद की निकली। उन्होने बताया कि शादी के लिए नागपुर आई थी, वापसी के दौरान जल्दबाजी में बैग स्टेशन पर छूट गया था।

नागपुर-छिंदवाड़ा की नब्ज टटोलेंगे सीआरएस

शनिवार को कमिश्नर ऑफ रेलवे सेफ्टी की ओर से नागपुर-छिंदवाड़ा लाइन का निरीक्षण किया जाना है। इतवारी से केलोड तक पटरी के सुरक्षा व संरक्षा की नब्ज टटोली जानेवाली है। यदि लाइन पूरी तरह फिट रही तो जल्दी ही इसे सर्टिफीकेट देकर गाड़ियों का आवागमन शुरू कराया जाएगा।

इस सेक्शन के शुरू होने के बाद नागपुर-छिंदवाड़ा ब्राडगेज साकार होने के लिए केवल भंडारकुंड से कैलोड मात्र 15 किमी का ट्रैक बनना शेष रहेगा। लंबे से समय से नागपुर से छिंदवाड़ा के लिए केवल छोटी लाइन की गाड़ियां चलती थी। पैसेंजर गाड़ियों पर लोग सवार होकर 125 किमी का फासला पूरा करते थे। लेकिन बदलते समय के साथ व हायटेक होती रेल गाड़ियों के कारण अब यह सफर समय बर्बादी साबित होने लगा। शनिवार को इसका अंतिम टेस्ट किया जानेवाला है। जिसमें सुबह 9 बजे सीआरएस के साथ रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी ट्राली के माध्यम से यहां से कैलोद के लिए निकलेंगे। इतवारी के बाद खापरखेडा, पाटणसावंगी, लोधीखेडा, सौंसर व रामाकोना स्टेशनों तक जाएंगे। इसके बाद लाइन को फिटनेस सर्टिफीकेट दिया जाएगा।

कमेंट करें
C2FBh