comScore
Dainik Bhaskar Hindi

गुजरात : BJP सांसद ने की मीडिया के साथ बदसलूकी

BhaskarHindi.com | Last Modified - November 26th, 2017 15:30 IST

537
0
0

डिजिटल डेस्क, अहमदाबाद। गुजरात चुनाव के लिए बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही पार्टियां जी जान से जुटी हुई हैं। बीजेपी ने अपने सभी दिग्गज नेताओं को चुनावी मैदान में उतार दिया है। लेकिन बीजेपी के कुछ नेता अपनी ही पार्टी की कोशिशों पर पानी फेरने में लगे हैं। गौरतलब है कि गुजरात के पंचमहाल से बीजेपी सांसद प्रभात सिंह कलोल ने एक न्यूज चैनल की टीम के साथ बदसलूकी की है। बता दें कि प्रभात सिंह अपनी पत्नी के बजाए बहू को टिकट दिए जाने से नाराज हैं।

बता दें कि जब न्यूज चैनल ने उनसे सवाल किया तो उन्होंने चैनल की टीम के साथ बदतमीजी करना शुरू कर दिया। प्रभात सिंह कलोल मन की बात, कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे थे। बता दें कि पत्नी के बजाए बहू को टिकट दिए जाने से नाराज सांसद कलोल ने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को चिट्ठी भी लिखी थी।

अमित शाह को लिखी थी चिठ्ठी
प्रभात सिंह कलोल की बहू सुमन चौहान को कलोल सीट से पार्टी ने टिकट दे दिया था। जिस कारण प्रभात और उनकी पत्नी रंगेश्वरी चौहान नाराज हो गईं। बता दें कि सास ने टिकट के लिए दावा किया था, लेकिन पार्टी ने बहू को सास से ज्यादा तवज्जो दे दी। इससे नाराज सास ने अपनी बहू को धमकी दे डाली कि प्रचार के लिए घर से बाहर निकल कर दिखाए। जिसके बाद कलोल ने पार्टी के कई बड़े नेताओं से बात की और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को चिठ्ठी लिखी।

कलोल ने चिठ्ठी में लिख ड़ाली ये सारी बातें
खबरों के मुताबिक प्रभात सिंह चौहान ने इस बारे में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को पत्र लिखा। इस पत्र में उन्होंने लिखा है कि, 'मेरा बेटा प्रवीन एक बुटलेगर है और वो अपनी पत्नी सुमन के साथ जेल भी जा चुका है। हाल ही में गोधरा से जो 300 बक्से शराब बरामद की गई थी वो भी मेरे बेटे की थी। ऐसे में उसे कालोल सीट से विधानसभा के लिए टिकट ना दिया जाए।' पत्र में चौहान ने आगे लिखा है कि, 'मेरा बेटा प्रवीन जब 2007 के विधानसभा चुनाव नें निर्दलीय खड़ा हुआ था, तो खुद उस समय के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के कहने पर उसे हराने के लिए मैंने यहां एक बड़ी जनसभा की थी।' उन्होंने कहा है कि उनका बेटा प्रवीन कभी पार्टी का वफादार नहीं रहा है।
 
बता दें कि प्रभात सिंह चौहान दरअसल अपनी पत्नी रंगेश्वरी के लिए बीजेपी का टिकट चाहते थे और उन्होंने कहा था कि अगर उनकी पत्नी को टिकट नहीं मिला तो सांसद होते हुए भी वे विधानसभा का चुनाव निर्दलीय रूप में लड़ेंगे। लेकिन बीजेपी ने उनकी पत्नी को टिकट न देकर उनकी बहू सुमन चौहान को टिकट दे दिया। इसी से नाराज होकर उन्होंने पार्टी अध्यक्ष अमित शाह को गुजराती में पत्र लिखा है। उन्होंने कहा कि ऐसा ही रहा तो आने वाले दिनों में बीजेपी कलोल और गोधरा सीट नहीं जीत पाएगी। चौहान ने दावा किया कि सिर्फ उनके कारण ही बीजेपी को लोकसभा और म्यूनिसिपल चुनाव में जीत हासिल हुई।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर