comScore

महिलाओं ने इंटकवेल में जड़ दिया ताला, दूसरे गांवों को दे रहे इस योजना से पानी

महिलाओं ने इंटकवेल में जड़ दिया ताला, दूसरे गांवों को दे रहे इस योजना से पानी

डिजिटल डेस्क, मंडला। जलसंकट से जूझ रहे लोगों में आक्रोश पनप रहा है। ग्राम पंचायत बड़ी खैरी के ग्राम छोटी खैरी की महिलाओं ने हनुमान घाट स्थिति खैरी जलप्रदाय योजना के इंटकवेल मे ताला जड़ दिया है। महिलाओं का आरोप था कि पाइप लाइन विस्तार का काम अधूरा है। उन्हें इस योजना से पानी नहीं मिल रहा है। एक घंटे तक महिलाओं ने विरोध किया। इसके बाद अधिकारियों ने जलसंकट से निराकरण कराने का आश्वासन दिया तब जाकर महिलाएं मानी।

दिया तले अंधेरा
जानकारी के मुताबिक ग्राम पंचायत बड़ी खेरी के ग्राम छोटी खैरी में वार्ड 16 से 20 तक करीब 1500 की आबादी है। ग्राम पंचायत खेरी में नलजल योजना के तीन बोर है, गर्मी के कारण तीनो सूख चुके है। छोटी खेरी में महज एक हैंडपंप है। जिससे पूरे गांव की प्यास बुझ रही है। गांव में जलसंकट के हालात बने हुए हैं। ग्राम खैरी में नर्मदा जलप्रदाय योजना से 56 ग्राम पंचायत को पानी सप्लाई किया जा रहा है। लेकिन इंटकवेल से समीप बसे ग्राम छोटी खैरी को पानी नहीं मिल रहा है। ग्राम में पाइप लाइन विस्तार नहीं किया गया है। जिससे नलजल योजना से ग्राम को पानी नहीं मिल पा रहा है। यहां हैंडपंप में घंटो लाइन में लगना पड़ रहा है। आलम यह है कि इसके बाद भी खाली बर्तन लेकर घर जाना पड़ रहा है। निस्तार के लिए पानी नहीं मिल पा रहा है।

महिलाओं ने किया विरोध
खैरी जलप्रदाय योजना से पानी नहीं मिलने के कारण यहां महिलाओं में विरोध किया है। सुबह करीब 9 छोटी खैरी से महिलाएं हनुमान घाट स्थित इंटकवेल में पहुंच गई। यहां इंटकवेल में ताला जड़ दिया। इसकी जानकारी कर्मचारियों ने अधिकारियों को दी। जिसके बाद अधिकारी मौके पर पहुंचे। महिलाओ ने चर्चा की गई। उनकी समस्या सुनी गई। महिलाओं ने बताया है कि ग्राम में जलसंकट के हालात है।बूंद-बूंद पानी के लिए मोहताज है। ग्राम में जलसंकट की स्थिति को देखते हुये ग्राम में बोर करने का आश्वासन दिया गया है। इसके लिए पीएचई विभाग के अधिकारी मनोज भास्कर ने दो दिन का समय मांगा है। 

जनभागीदारी के लिए दी जा चुकी राशि
यहां ग्राम पंचायत जनभागीदारी के लिए विभाग के 1 लाख 20 हजार रूपये तीन साल पहले दे चुकी है। लेकिन छोटी खैरी के जलसंकट को दूर करनेके लिए विभाग के अभी तक कोई कदम नही उठाये है। तीन साल बाद भी खैरी जलप्रदाय योजना से छोटी खैरी को नही जोडुा जा सका है। जिससे यहां जलसंकट के हालात बने हुये है। ग्रामीणों को बूंद-बूंद पानी के लिए भटकना पड़ रहा है।

इनका कहना है
महिलाओं ने विरोध कर इंटकवेल में ताला लगाया था, एक हैंडपंप से पूरे गांव की प्यास बुझ रही है, जलसंकट के कारण गंभीर हालात है, जिससे लोगो मेें नाराजगी है, विभाग ने बोर कर जलसंकट से निजात दिलाने का आश्वासन दिया है। सोनू भलावी, सरपंच
 

कमेंट करें
f2yDx