comScore
Dainik Bhaskar Hindi

पीएम मोदी का व्यवहार पाकिस्तान के प्रधानमंत्री जैसा - अरविंद केजरीवाल

BhaskarHindi.com | Last Modified - February 11th, 2019 22:49 IST

2.8k
1
0
पीएम मोदी का व्यवहार पाकिस्तान के प्रधानमंत्री जैसा - अरविंद केजरीवाल

News Highlights

  • आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू अपने राज्य के लिए विशेष दर्जा देने की मांग को लेकर एक दिन के धरने पर बैठे हैं।
  • आम आदमी पार्टी के मुखिया और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी चंद्रबाबू के धरने में शामिल होने पहुंचे।
  • इस दौरान उन्होंने कहा कि भारत के पीएम पाकिस्तानी प्रधानमंत्री की तरह व्यवहार करते हैं।


डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू अपने राज्य के लिए विशेष दर्जा देने की मांग को लेकर एक दिन के धरने पर बैठे हैं। इस धरने को तमाम विपक्षी नेताओं ने अपना समर्थन दिया है। आम आदमी पार्टी के मुखिया और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी चंद्रबाबू के धरने में शामिल होने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने पीएम मोदी पर जमकर निशाना साधा और कहा कि भारत के पीएम पाकिस्तानी पीएम की तरह व्यवहार करते हैं। केजरीवाल के इस बयान ने राजनीति को गर्मा दिया है।

अरविंद केजरीवाल ने कहा, 'हम प्रधानमंत्री को कहना चाहते हैं, वो बीजेपी के पीएम नहीं है। वो देश के लोगों के पीएम है। जिस तरह से पीएम विपक्षी राज्यों की सरकारों से व्यवहार करते हैं इससे ऐसा लगता है कि वह भारत के प्रधानमंत्री नहीं बल्कि पाकिस्तान के पीएम हो।' केजरीवाल ने कहा, “यह बहुत दुख की बात है कि आंध्र के सीएम और लोगों को अपना राज्य छोड़कर दिल्ली में धरने पर बैठना पड़ा है और यह हमारे देश के संघीय ढांचे पर सवाल खड़ा करता है।

उन्होंने कहा, प्रधान मंत्री ने सार्वजनिक रूप से घोषणा की थी कि वह आंध्र को विशेष राज्य का दर्जा देंगे लेकिन वह विश्व स्तर पर झूठ बोलने के लिए प्रसिद्ध हैं। वह जो भी कहते हैं उसे कभी पूरा नहीं करते। अमित शाह ने एक बार यहां तक ​​कहा था कि वे जो कुछ भी कहते हैं, वह सिर्फ जुमला है। केजरीवाल ने कहा, प्रधानमंत्री ने तिरुपति मंदिर में आंध्र के लिए विशेष दर्जे का वादा किया था, लेकिन वह भगवान से किए गए वादों को भी पूरा नहीं करते हैं।

इससे पहले दिन में, नायडू ने भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार के खिलाफ तीखा हमला बोला। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री राज्य को विशेष दर्जा देने से इनकार करके अपने 'राज धर्म' का पालन नहीं कर रहे हैं। एक दिन के धरने पर बैठे नायडू ने मांग करते हुए कहा कि केंद्र 2014 में आंध्र प्रदेश के विभाजन के दौरान किए गए सभी वादों को पूरा करे। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि पीएम मोदी ने अपने राज्य के लोगों के खिलाफ व्यक्तिगत हमले किए तो उन्हें "सबक सिखाया जाएगा"।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download