comScore

रेप केस में आसाराम को मिली उम्रकैद की सजा

April 26th, 2018 10:59 IST

हाईलाइट

  • नाबालिग के साथ रेप के मामले में जोधपुर कोर्ट ने आसाराम बापू को दोषी करार देते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई है।
  • मामले में अन्य दो दोषियों शिल्पी उर्फ संचिता गुप्ता और शरदचन्द्र उर्फ शरतचन्द्र को 20-20 साल की सजा सुनाई है।
  • इस मामले में अन्य दो आरोपियों प्रकाश और शिवा को बरी कर दिया गया है।
  • जज ने आसाराम को मरने तक उम्रकैद की सजा सुनाई है। कोर्ट ने सजा के साथ ही 1-1 लाख रुपए का जुर्माना भी सुनाया गया है।

डिजिटल डेस्क, जोधपुर। नाबालिग के साथ रेप के मामले में जोधपुर कोर्ट ने आसाराम बापू को दोषी करार देते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई है। मामले में अन्य दो दोषियों शिल्पी उर्फ संचिता गुप्ता और शरदचन्द्र उर्फ शरतचन्द्र को 20-20 साल की सजा सुनाई है। बता दें कि इस मामले में अन्य दो आरोपियों प्रकाश और शिवा को बरी कर दिया गया है। इसी के साथ पिछले पांच साल से जोधपुर सेंट्रल जेल में बंद आरोपी आसाराम के मामले की सुनवाई पूरी हो गई है। बता दें जज ने आसाराम को मरने तक उम्रकैद की सजा सुनाई है।

कोर्ट में जब आसाराम को सजा सुनाई जा रही थी, उस दौरान आसाराम हरिओम-हरिओम का जाप कर रहा था। जज ने सबसे पहले शिल्पी और शरद को 20-20 साल की सजा सुनाई। इनको सजा सुनाने के बाद आसाराम के चेहरे पर थोड़ा सुकून था, उसको लगा कि उसे भी सजा कम ही होगा। इस दौरान आसाराम एक-एक कर लगातार 6 गिलास पानी पी गए थे, मगर जब जज ने आसाराम को उम्रकैद की सजा सुनाई, तब उसने सजा सुनकर सिर पकड़ लिया और घुटनों के बल नीचे बैठकर फूट-फूटकर रोने लगे। कोर्ट ने सजा के साथ ही 1-1 लाख रुपए का जुर्माना भी सुनाया गया है।

कौन है आरोपी शिल्पी और शरदचंद्र


शिल्पी मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा आश्रम की वॉर्डन थी। शरदचंद्र भी इसी आश्रम का मुख्य सेवादार था। पीड़िता को हॉस्टल से आसाराम तक लाने का काम शिल्पी ने ही किया था। आसाराम के इन सभी गलत कामों में इन दोनों को ही मुख्य आरोपी बताया गया है।

आसाराम के फैसले पर कांग्रेस का पीएम पर निशाना

आसाराम को कोर्ट से दोषी करार दिए जाने के बाद कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और आसाराम बापू का वीडियो जारी किया है। वीडियो में गुजरात के मुख्यमंत्री रहते नरेंद्र मोदी और आसाराम के संबंधों को बताने की कोशिश की गई है।

LIVE UPDATES :

2.31 : रेप केस में आसाराम को मिली उम्रकैद की सजा

2.29 : शिल्पी और शरद को 20-20 साल की सजा सुनाई

12.35 : आसाराम बापू की तबीयत खराब, जेल में बुलाई एंबुलेंस

12.32 : कोर्ट में बहस पूरी, सजा का ऐलान 1 बजे के करीब होगा

12.15 : आसाराम की उम्र का हवाला देकर उनके वकीलों ने कम सजा की मांग की है।

12.00 : कोर्ट ने कहा- सजा का ऐलान भी आज ही होगा

11.45 : पीड़िता के पिता बोले- हमें न्याय मिल गया है। मैं उन सभी का शुक्रिया अदा करना चाहता हूं, जिन्होंने इस लड़ाई में हमारा साथ दिया।

11.30 : आसाराम समेत तीनों दोषियों की सजा पर बहस जारी

10.42 : रेप केस में आसाराम दोषी करार, 5 में से 3 आरोपियों को दोषी ठहराया

10.28 : कोर्ट में पहुंचे आसाराम, थोड़ी देर में आएगा फैसला।

10.05 : कोर्ट पहुंचने से पहले आसाराम ने की पूजा।

09.58 : कोर्ट में कार्यवाही जारी, कुछ ही देर में आएगा फैसला।

09.40 : भोपाल, अहमदाबाद और वाराणसी के आश्रम में प्रार्थना कर रहे अनुयायी

09:30 AM : मामले के सहआरोपी शरदचंद्र, शिल्पी और शिवा जोधपुर सेंट्रल जेल पहुंचे।

8 AM : पुष्पहार लेकर जोधपुर सेंट्रल जेल पहुंचे आसाराम समर्थक को पुलिस ने हिरासत में लिया

7.50 AM : फैसला सुनाने के लिए जज जोधपुर कोर्ट पहुंचे

7 AM : जोधपुर कोर्ट के बाहर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त

राजस्थान में अलर्ट


आसाराम पर फैसला आने से पहले ही दिल्ली से लेकर जोधपुर तक सुरक्षा के सख्त इंतजाम किए गए। पुलिस को शक है कि राम-रहीम पर आए फैसले के बाद जिस तरह उनके समर्थकों ने दिल्ली समेत कई जगहों पर उपद्रव किया था, कुछ वैसा ही इस बार भी करने की कोशिश हो सकती है। आशंका है कि यदि आसाराम दोषी ठहराए जाते हैं तो उनके समर्थक हंगामा कर सकते हैं। खबरों के मुताबिक, गृह मंत्रालय ने मामले पर नजर बनाए रखने के लिए तीन राज्यों को अडवाइजरी जारी की है। जोधपुर में धारा 144 लगा दी गई है। कहीं भी भीड़ के जमा होते ही एक्शन लिया जाएगा। दिल्ली पुलिस के अधिकारी यूपी और हरियाणा पुलिस से भी संपर्क बनाए हुए हैं। पुलिस लोकल इंटेलिजेंस के जरिए आसाराम के आश्रमों और उनके समर्थकों की गतिविधियों पर नजर रखने का दावा कर रही है।



 

पीड़िता के घर की सुरक्षा बढ़ी 


यूपी में पीड़िता के घर के आसपास सुरक्षा-व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। उसके घर पर पांच पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं। पुलिस ने बताया कि पीड़िता के परिजनों की लगातार निगरानी की जा रही है। 


 

2013 में इंदौर से गिरफ्तार किए गए थे आसाराम 


वर्ष 2013 में शाहजहांपुर निवासी 16 वर्षीय नाबालिग लड़की ने आसाराम पर जोधपुर आश्रम में बलात्कार किए जाने का आरोप लगाया था। दिल्ली के कमला मार्केट थाने में मामला दर्ज कराया गया था, जिसके बाद केस को जोधपुर कोर्ट में स्थानांतरित कर दिया गया था। पुलिस ने आसाराम को इंदौर से गिरफ्तार किया था तब से वह जेल में बंद हैं। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने पिछले साल मामले में हो रही कोर्टी करवाई में देरी किए जाने पर भी सवाल खड़े किए थे। इस मामले में आरोपी आसाराम के खिलाफ IPC की धारा 376, 342, 506 और पोस्को की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था। 

अभियोजन पक्ष के दो गवाहों की हो चुकी है मौत 


मामले में सुनवाई के दौरान कोर्ट ने कई बार आसाराम की जमानत याचिका को ख़ारिज किया था। आसाराम के इस मामले से जुड़े अभियोजन पक्ष के कई गवाहों पर हमले भी किए जा चुके हैं, और दो गवाहों की मौत भी हो चुकी है। बता दें पीडिता के परिवार को आसाराम समर्थकों द्वारा परेशान करने और धमकाने की कई ख़बरें पहले भी सामने आ चुकी हैं। जिसके बाद पीड़िता के परिवार को कोर्ट की तरफ से सुरक्षा व्यवस्था मुहैया कराइ गई है। इसके अलावा गुजरात में भी आसाराम के खिलाफ बलात्कार का एक मामला दर्ज है। 


फैसला आने के बाद भी लटकती रहेगी दूसरे मामले की तलवार


सूरत में आसाराम और उनके बेटे नारायण साईं के खिलाफ दो बहनों को बंधक बना कर रेप करने का मामला दर्ज है। बड़ी बहन ने आसाराम पर आरोप लगाया था कि अहमदाबाद के निकट अशर में 2001 और 2006 के दौरान उनका कई बार यौन उत्पीड़न किया गया था। शुक्रवा को सुप्रीम कोर्ट ने बलात्कार के मामले में साक्ष्य दर्ज कराने की प्रक्रिया पूरी करने में विलंब के लिए फटकार लागते हुए पांच सप्ताह के भीतर इस प्रक्रिया को पूरा करने के निर्देश जारी किए थे। अब इस मामले में सजा मिलने के बाद गुजरात में उनके खिलाफ दर्ज बलात्कार के मामले में की भी तलवार लटक रही है।

Loading...
कमेंट करें
NLfQe
Loading...
loading...