comScore

क्लोजिंग सेरेमनी के साथ ही खत्म हुआ एशियन गेम्स 2018, रानी रामपाल रहीं भारत की ध्वजवाहक

September 03rd, 2018 10:10 IST

हाईलाइट

  • उद्घाटन समारोह में ध्वजवाहक स्टार जेवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा थे
  • आज एशियन गेम्स का आखिरी दिन
  • 18वें एशियन गेम्स में भारत के कुल पदकों की संख्या 69 है

डिजिटल डेस्क, जकार्ता। इंडोनेशिया के जकार्ता और पालेमबांग में चल रहे एशियन गेम्स 2018 का समापन हो गया है। क्लोजिंग सेरेमनी के साथ ही यह गेम रविवार को खत्म हो गए। एशियन गेम्स 18 अगस्त से 2 सितंबर तक आयोजित हो रहे थे। समापन समारोह में भारतीय महिला हॉकी  टीम की कप्तान रानी रामपाल भारत की ओर से ध्वजवाहक रहीं। 

इसकी घोषणा भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) के अध्यक्ष नरिंदर बत्रा द्वारा शनिवार को की गई थी। इसमें उन्होंने बताया था कि एशियन गेम्स के समापन समारोह में भारतीय दल की ध्वजवाहक महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल होंगी। इन खेलों के उद्घाटन समारोह के लिए स्टार जेवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा को भारतीय दल का ध्वजवाहक चुना गया था। जिन्होंने भारत को इन खेलों में गोल्ड मेडल भी जिताया है। 

भारतीय महिला हॉकी टीम को यहां फाइनल में जापान ने 2-1 से हरा दिया। जिसके कारण भारतीय महिला टीम का हॉकी में 36 साल बाद गोल्ड जीतने का सपना टूट गया। इसी के साथ हॉकी टीम को सिल्वर से ही संतोष करना  पड़ा। हालांकि यह भी भारत के लिए एक बड़ा अचीवमेंट रहा क्योंकि महिला हॉकी में 20 साल बाद भारतीय टीम के हिस्से सिल्वर आया है। लगभग 550 भारतीय खिलाड़ियों के दल में से ज्यादातर खिलाड़ी स्वदेश लौट गए हैं। इसलिए ध्वजवाहक का चयन वहां मौजूद खिलाड़ियों में से किया गया है। 18वें एशियन गेम्स में भारत के कुल पदकों की संख्या 69 है। इनमें 15 गोल्ड, 24 सिल्वर और 30 ब्रॉन्ज शामिल हैं। भारत इस समय पदक तालिका में 8वें स्थान पर है।

कमेंट करें
ocHP3