comScore

अगर होता है ऐसा महसूस तो हो जाएं सावधान, हो सकता है कैंसर का खतरा

February 06th, 2019 15:39 IST
अगर होता है ऐसा महसूस तो हो जाएं सावधान, हो सकता है कैंसर का खतरा

डिजिटल डेस्क। कैंसर एक जानलेवा बीमारी है, जिसका नाम सुनते ही कोई भी सहम जाएगा। अनहेल्दी लाइफस्टाइल के चलते दुनिया भर में लोग तेजी से इस रोग की चपेट में आ रहे हैं। हाल ही में 4 फरवरी को विश्व कैंसर दिवस (World Cancer Day) मनाया गया, जिसमें विश्व स्वास्थ्य संगठन ग्लोबोकैन की रिपोर्ट के अनुसार, वर्ष 2018 में करीब 11 लाख नए कैंसर मरीज पाए गए हैं। वहीं पिछले पांच सालों में लगभग 5 लाख लोग कैंसर के कारण अपनी जान गंवा बैठे। अगर समय रहते इस बीमारी का इलाज ना किया जाए तो इंसान की जान को खतरा हो सकता है। यहां हम कैंसर के कुछ ऐसे लक्षण बता रहे हैं जो देखने में तो साधारण होते हैं, लेकिन असल में यह कैंसर के खतरे के संकेत हो सकते हैं। 

नेशनल हेल्थ सर्विस की रिपोर्ट के अनुसार, एक चौंकाने वाला नतीजा सामने आया जिसमें 3 लोगों में से कम कम एक व्यक्ति को उसके जीवन में एक बार कैंसर होने का खतरा बना रहता है। रिपोर्ट के मुताबिक, U.K. में ब्रेस्ट कैंसर, फेफड़ो का कैंसर और पेट का कैंसर सबसे आम है।   

कैंसर के प्रकार

स्तन कैंसर, सर्वाइकल कैंसर, ब्रेन कैंसर, बोन कैंसर, ब्लैडर कैंसर, पेंक्रियाटिक कैंसर, प्रोस्टेट कैंसर, किडनी कैंसर,स्किन कैंसर, स्टमक कैंसर, थायरॉइड कैंसर, मुंह का कैंसर, गले का कैसर। कैंसर कई प्रकार होते हैं, जिनके लक्षण भी एक दूसरे से काफी अलग होते हैं। कई बार इसके लक्षण शुरुआती दिनों में ही समझ आने लगते हैं, तो कई बार इन लक्षणों की जानकारी ना होने पर लोग उन्हें समझ नहीं पाते।

U.K. की कैंसर रिसर्च की रिपोर्ट के अनुसार यदि लोगों को रात के समय अधिक पसीना आता है तो ये कैंसर का लक्षण हो सकता है। इंफेक्शन या किसी दवा के साइड इफेक्ट की वजह से भी अक्सर रात में पसीना आ सकता है। महिलाओं में कई बार मेनोपॉज के बाद पसीना आने की समस्या बढ़ जाती है, लेकिन यदि आपको अक्सर ही रात के समय बहुत ज्यादा पसीना आता है, तो ये कोई आम बात नहीं इसे कताई नजरअंदाज न करें, क्योंकि ये कैंसर होने का एक संकेत भी हो सकता है। इसलिए रिसर्च के दौरान भी यह कहा गया कि जिन लोगों को ये समस्या है वो तुंरत डॉक्टर के पास जाकर अपना चेकअप कराएं। 

रात में अधिक पसीना आने का संबंध नॉन-होजकिंग और होजकिंग लिम्फोमा, कार्सिनॉयड, ल्यूकेमिया, मेसोथेलियोमा, हड्डियों का कैंसर और लिवर कैंसर से होता है। बता दें, कि नॉन-होजकिंग और होजकिंग लिम्फोमा कैंसर व्यक्ति के लिम्फेटिक सिस्टम से बनता है। गर्दन में सूजन भी इन दो कैंसर के लक्षण हो सकते हैं। 

कार्सिनॉयड कैंसर व्यक्ति के शरीर में धीरे- धीरे किसी भी हिस्से में फैल जाता है। शरीर के जिस हिस्से में ये कैंसर होता है, इसके लक्षण भी उसी पर निर्भर करते हैं। ल्यूकेमिया कैंसर- इस कैंसर में सफेद रक्त कोशिकाएं प्रभावित होती हैं। इसमें त्वचा पीली पड़ना, थकान महहसूस होना, सांस लेने में परेशानी, समय-समय पर बुखार आना, वजन घटना, हड्डियों और जोड़ों में दर्द होना इस कैंसर के प्रमुख लक्षण हैं। 

कमेंट करें
Survey
आज के मैच
IPL | Match 34 | 18 April 2019 | 08:00 PM
DC
v
MI
Feroz Shah Kotla Ground, Delhi