comScore
Dainik Bhaskar Hindi

पर्दे के पीछे: 30 साल की हुई मिस्टर इंडिया, ऐसे गायब होते थे अनिल कपूर

BhaskarHindi.com | Last Modified - July 27th, 2017 16:20 IST

1.2k
0
0
पर्दे के पीछे: 30 साल की हुई मिस्टर इंडिया, ऐसे गायब होते थे अनिल कपूर

बॉलीवुड डेस्क, मुंबई.   हमारे लिए अनिल कपूर मिस्टर इंडिया और मिस्टर इंडिया मतलब अनिल कपूर है। अभिनेता अनिल कपूर की बेहतरीन फिल्मों की लिस्ट बनाई जाए तो उसमें ‘मिस्टर इंडिया’ का नाम काफी ऊपर होगा। इस फिल्म ने हिंदी सिनेमा के इतिहास में कई रिकॉर्ड बनाए हैं। फिल्म में अनिल कपूर का गायब होना आज भी लोग नहीं भूल सके है आज भी इस तकनीक की टाईफ की जाती है।

फिल्म के गानों से लेकर अनिल कपूर और श्रीदेवी की केमिस्ट्री और अमरीश पुरी का मोगैंबो खुश हुआ वाला डायलॉग सब खूब हिट हुआ था। 1987 में रिलीज हुई इस फिल्म को 30 साल पूरे हो चुके हैं। लेकिन आज भी अनिल कपूर को लोग मिस्टर इंडिया कह देते हैं।

लेकिन क्या आपको पता है इस फिल्म के लिए पहली चॉइस अनिल कपूर नहीं थे। जी हां, फिल्म की राइटर जावेद अख्तर ने मामी फिल्म फेस्टिवल के दौरान खुलासा किया था कि यह फिल्म अमिताभ बच्चन को ध्यान में रखकर लिखी गई थी। बाद में कुछ कारणों से अमिताभ यह फिल्म नहीं कर पाए और अनिल कपूर को ये रोल मिल गया।

इस बारे में बात करते हुए अनिल कपूर ने भी एक इंटरव्यू में कहा था, ‘’हां वह यह फिल्म करने जा रहे थे, शुरूआत में मिस्टर इंडिया उन्हीं के लिए लिखी गई थी। लेकिन मैंने इस किरदार को अपना स्टाइल दिया। जब आप मिस्टर इंडिया देखते हैं तो आपको एहसास नहीं होता कि यह फिल्म पहले अमित जी करने वाले थे। बोनी कपूर की पत्नी और अनिल कपूर की भाभी श्रीदेवी ने इस फिल्म में मुख्या किरदार निभाया है. वे भी आज इस फिल्म को सुनहरे दिनों की तरह ही याद करती हैं।

आजकल बॉलीवुड में कई साउथ फिल्मों का रीमेक बनने का चलन है। 'वॉन्टेड', 'रेडी', 'राऊडी राठौड़' ना जाने कितनी ऐसी फिल्मे हैं जो साउथ फिल्मों की कॉपी हैं। लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि मिस्टर इंडिया के सफल होने के बाद तमिल और कन्नड़ में इस फिल्म का रीमेक बना था। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर