comScore
Election 2019

छिंदवाड़ा का जिम्नास्टिक का सामान , सिवनी को भेज दिया,नहीं है कोच 

छिंदवाड़ा का जिम्नास्टिक का सामान , सिवनी को भेज दिया,नहीं है कोच 

डिजिटल डेस्क, छिंदवाड़ा । खेल अफसरों की बड़ी लापरवाही सामने आई है। जिले की खेल प्रतिभाओं को निखारने के लिए आई लाखों की सामग्री अफसरों ने छिंदवाड़ा में इस्तेमाल करने की बजाय सिवनी पहुंचा दी। खेल एवं युवक कल्याण विभाग के डायरेक्टर केे आदेश पर ये कार्रवाई की गई। हवाला दिया गया कि जिले में कोच नहीं होने के कारण यहां इन सामग्रियों का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है। 2018 में जिम्नास्टिक के लिए मध्यप्रदेश खेल एवं युवक कल्याण विभाग ने छिंदवाड़ा को सामग्री प्रदाय की थी। एक साल तक ये सामग्री जिला कार्यालय में रखी रही। इसमें जिम्नास्टिक के लिए फ्लोर, गद्दे, जंपिंग सहित अन्य सामग्री शामिल थी। इसकी कीमत लाखों रुपए बताई जा रही है। जिम्नास्टिक हॉल एवं सामग्री होने के बाद भी अफसर एक साल में कोच की व्यवस्था नहीं  कर पाए। जिले की खेल गतिविधियों का जायजा लेने जब डायरेक्टर छिंदवाड़ा पहुंचे तो उन्होंने उक्त सामग्री सिवनी को आवंटित कर दी। सिवनी में सामग्री देने के बाद भी अफसरों की नींद नहीं खुली। आज भी जिले में जिम्नास्टिक का एक कोच नहीं है, जबकि लाखों का भवन बनकर सालों पहले तैयार हो चुका है।

खेल युवा कल्याण विभाग के पास महज दो खेलों के प्रशिक्षक-
खेल एवं युवा कल्याण विभाग के पास महज दो खेलों के लिए ही प्रशिक्षक हैं। फुटबॉल एवं कबड्डी के लिए ही यहां विभागीय प्रशिक्षक हैं। कुश्ती के लिए भी विभागीय प्रशिक्षक नहीं-जिले में कुश्ती के शौकीनों की संख्या कम नहीं है। यहां पर कई बड़े आयोजन भी होते हैं, जिसमें देशभर से पहलवान पहुंचते हैं। इसके बाद भी विभाग के पास कुश्ती का प्रशिक्षक नहीं है। कुश्ती के लिए करीब चार वर्ष पूर्व गद्दे आए थे। विभागीय प्रशिक्षक नहीं होने से बाहरी प्रशिक्षक के भरोसे समर कैम्प में खिलाडिय़ों के लिए ट्रेनिंग की व्यवस्था बनाई गई है। कुश्ती के गद्दों की भी दुर्दशा हो रही है।

कोच नहीं इसलिए समर कैम्प में नहीं मिल रही हॉकी की ट्रेनिंग-
ग्रीष्मकालीन खेल प्रशिक्षण शिविर में विभिन्न खेलों का प्रशिक्षण दिया जा रहा है लेकिन देश के राष्ट्रीय खेल की ट्रेनिंग खिलाडिय़ों को नहीं मिल रही है। कोच उपलब्ध नहीं होने के कारण इस वर्ष ग्रीष्मकालीन खेल शिविर में हॉकी का प्रशिक्षण शुरु नहीं हुआ।

इनका कहना है
करीब एक वर्ष पूर्व जिम्नास्टिक की सामग्री आई थी। यहां पर जिम्नास्टिक का कोच नहीं है इसलिए सामग्री सिवनी पहुंचाई गई है। डायरेक्टर ने जल्द जिम्नास्टिक के लिए कोच एवं सामग्री दिलाने के लिए कहा है। -सुनीता यादव, जिला खेल एवं युवा कल्याण अधिकारी

Loading...
कमेंट करें
fMPil
Loading...